वॉशिंगटन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वॉशिंगटन में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और विदेश मंत्रालय की खुले मन से तारीफ की. उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज हर ट्वीट का जवाब 15 मिनट में देती हैं भले ही वह ट्वीट रात को 2 बजे ही क्यों ना किया गया हो.
 
विदेश मंत्रालय से जो भी मदद के लिए गुहार लगाता है मंत्रालय 24 घंटे में कार्रवाई कर देता है. विदेश मंत्रालय की तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि विदेशों में फंसे 80 हजार हिन्दुस्तानियों को बचाया गया है. पीएम ने विदेश मंत्रालय के काम को गुड गवर्नेंस का नमूना बताया है.
 
उन्होंने कल भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि भारत में भ्रष्टाचार की वजह से सरकार बदलती रही है, लेकिन तीन साल में हमारी सरकार पर कोई दाग नहीं लगा है. पीएम ने कहा कि आतंकवाद मानवता का दुश्मन है और आज विश्व को आतंकवाद के बारे में समझाना नहीं पड़ता आतंकियों ने ही समझा दिया है.
 
पीएम ने वॉशिंगटन में कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक से दुनिया को भारत की ताकत पता चली. दुनिया चाहती तो भारत के बाल नोच सकती थी. भारत के इतने बड़े सर्जिकल स्ट्राइक पर दुनिया में कहीं भी सवाल नहीं उठे.
 
 
जिसने भुगता केवल उसी ने सवाल उठाया. आतंकवाद पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पहले हम आतंकवाद की बात उठाते थे, तो विश्व के देश इसे लॉ एंड ऑर्डर की बात बताते थे. पूरी दुनिया को आतंकवाद समझ आने लगा है. हम पूरी दुनिया को आतंकवाद समझाते थे, तब कोई नहीं समझता था.
 
पीएम मोदी ने कहा कि अगर भारत में कुछ अच्छा होता है तो अमेरिका में रह रहे भारतीय समुदाय में भी खुशी की लहर दौड़ पड़ती है. अगर वहां कुछ बुरा होता है तो यहां भी चेहरे पर मायूसी आ जाती है, दुखी हो जाते हैं. उन्होंने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपके सपनों के भारत को बनाने में मैं आखिरी सांस तक लड़ता रहूंगा. 
 
 
बता दें कि पीएम मोदी आज राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात करने वाले हैं. पीएम रात एक बजकर 10 मिनट पर व्हाइट हाउस पहुंचेंगे. जहां राष्ट्रपति ट्रंप से उनकी मुलाकात होगी. दोनों के बीच कई अहम मुद्दों पर चर्चा हो सकती है.
 
इसके बाद व्हाइट हाउस के ही कैबिनेट ऑफिस में करीब एक घंटे तक द्विपक्षीय वार्ता होगी. इस वार्ता में पहले कहा जा रहा था कि भारतीयों के लिए एच-1बी वीजा के मुद्दे पर बात होगी, लेकिन पीएम मोदी के अमेरिका पहुंचने से पहले ही व्हाइट हाउस ने यह साफ कर दिया था कि विवादित एच-1बी वीजा मुद्दे पर कोई वार्ता नहीं होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App