वॉशिंगटन. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न्यूक्लियर सिक्यॉरिटी समिट में हिस्सा लेने के लिए वॉशिंगटन पहुंच गए हैं. मोदी आज सुबह बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स से अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन के लिए रवाना हुए थे.

पीएम मोदी आज से वॉशिंगटन में शुरू हो रही परमाणु सुरक्षा शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे. आगामी 2 अप्रैल को प्रधानमंत्री वॉशिंगटन से सऊदी अरब के लिए रवाना होंगे. पीएम मोदी वहां शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सऊद के मुलाकात करेंगे.

दो दिन के इस सम्मेलन से पहले वह व्हाइट हाउस में 53 देशों के नेताओं के साथ एक डिनर में हिस्सा लेंगे. सम्मेलन का मक़सद पांच अहम बातों पर एक्शन प्लान तैयार करना है. इनमें अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए), यूएन, इंटरपोल, ग्लोबल इनीशिएटिव टु कॉम्बैट न्यूक्लियर टैररिज़्म और जी-7 देशों के बीच जनसंहार के हथियारों के विस्तार के ख़िलाफ़ अंतरराष्ट्रीय सहयोग बनाना है.

इससे पहले ब्रसेल्स पहुंचे पीएम मोदी ने यहां भारतीय समुदाय को संबोधित किया. अपने संबोधन में पीएम मोदी ने आतंकवाद पर हमला करते हुए कहा कि जब तक अमेरिका के 9/11 हमले ने दुनिया को झकझोर नहीं दिया, तब तक दुनिया मानने को तैयार नहीं थी कि भारत आतंकवाद के कितने बड़े संकट को झेल रहा है. लेकिन भारत आतंकवाद के सामने न कभी झुका है और न ही झुकने का कोई सवाल उठता है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर