नई दिल्ली: गुजरात चुनाव के खत्म होते ही आए तमाम एग्जिट पोल के नतीजों से जहां बीजेपी को बड़ी राहत मिली वहीं, कांग्रेस की नींद उड़ गई है. एग्जिट पोल के मुताबिक, गुजरात में बीजेपी एक बार फिर वापसी कर रही है, जबकि हिमाचल कांग्रेस के हाथ से निकलता दिख रहा है. गुजरात की बात करें तो राहुल गांधी ने यहां पूरी ताकत झोंक दी थी. जातीय समीकरण बिठाया और मंदिरों के चक्कर भी लगाए. कारोबारियों, किसानों और पाटीदारों की नाराज़गी को अपने हक में भुनाने में कोई कसर बाकी नहीं रखी.

राहुल गांधी ने दावा भी किया कि गुजरात के नतीजे चौंकाने वाले होंगे. लेकिन जो नतीजे एग्जिट पोल के आए हैं उससे खुद कांग्रेस ही चौंक गई है और उसने ईवीएम पर सवाल उठाना शुरु कर दिया है. राहुल के सारे दांव फेल होते दिख रहे हैं जबकि पीएम मोदी का हर तीर सही निशाने पर लगता दिख रहा है. चाहे वो गुजरात की अस्मिता का भावुक मुद्दा हो. या मणिशंकर के ‘नीच’ बयान पर गुजरातियों से सबक सिखाने की अपील या फिर प्रचार के आखिरी दिन लगाया गया विकास के सी-प्लेन का मास्टर स्ट्रोक. अगर 18 तारीख को एग्जिट पोल के नतीजे सही साबित हुए तो दो बड़े सवाल जरूर उठेंगे.

क्या मोदी को रोक पाना विपक्ष के लिए मुश्किल हो रहा है? और क्या मोदी का मिशन ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ पूरा हो जाएगा ? अपने पैनल के साथ हम इन बड़े सवालों के जवाब ढूंढेंगे लेकिन उससे पहले दिखाते हैं कैसे एग्जिट पोल के नतीजों को लेकर बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे पर वार पलटवार कर रहे हैं. पीएम मोदी अपने कांग्रेस मुक्त भारत के मिशन को लगातार आगे बढ़ा रहे हैं. एग्जिट पोल के नतीजों को मानें तो 2014 के लोकसभा चुनाव में चला मोदी मैजिक आज भी कायम है. आपको दिखाते हैं कि केन्द्र में मोदी सरकार बनने के बाद मोदी लहर किन किन राज्यों में चली.

वीडियो में  देखें पूरा शो-