नई दिल्ली: गुजरात में विधानसभा चुनाव इस बार बीजेपी के लिए साख का सवाला है तो कांग्रेस के लिए 22 साल बाद सत्ता में वापसी का सबसे बड़ा मौका. पिछले 10 साल में बीजेपी ने गुजरात में विकास के मुद्दे पर कांग्रेस को हराया था. इस बार कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात के विकास मॉडल पर सवाल तो उठा रहे हैं, लेकिन उनका पूरा ध्यान सोशल इंजीनियरिंग के नए फॉर्मूले पर है. 1980 में कांग्रेस को प्रचंड बहुमत दिलाने वाले खाम फॉर्मूले की तर्ज पर कांग्रेस के हाथ में इस बार झाम फॉर्मूला है. खाम की तरह झाम फॉर्मूला भी जाति और धर्म के समीकरण पर ही आधारित है. क्या गुजरात चुनाव में विकास की बजाय जाति और धर्म का खेल चलेगा ? क्या खाम की तरह कामयाब होगा राहुल गांधी का झाम फॉर्मूला, आज इन्हीं सवालों पर होगी महाबहस.
 

(वीडियो में देखें पूरा शो)