श्रीनगर: हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी सैयद सलाहुद्दीन के बेटे शाहिद यूसुफ को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गिरफ्तार कर लिया है. शाहिद को 2011 हवाला फंडिंग केस में अरेस्ट किया गया है. सुरक्षा बलों के लिए यह एक बड़ी कामयाबी मानी जा रही है. शाहिद जम्मू-कश्मीर सरकार के कृषि विभाग में बतौर जूनियर इंजीनियर तैनात है. सुरक्षा बलों के लिए यह एक बड़ी कामयाबी मानी जा रही है. शाहिद की गिरफ्तारी ऐसे वक्त में हुई है जब एक दिन पहले केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में अमन के लिए सभी पक्षकारों से बातचीत के लिए पूर्व आईबी चीफ दिनेश्वर शर्मा को वार्ताकार नियुक्त किया है. फिलहाल एनआईए शाहिद यूसुफ से पूछताछ कर रही है.
 
मिली जानकारी के अनुसार, युसूफ ने एजाज नामक एक शख्स द्वारा वेस्टर्न यूनियन के जरिए भेजी गई रकम स्वीकार की है. सैयद शाहिद यूसुफ पर कश्मीर में जारी आतंकवाद में इस्तेमाल किए जाने के लिए सलाहुद्दीन के इशारे पर सीरिया से रकम लेने का आरोप है. पुलिस के मुताबिक, ये रकम 2011 और 2014 के बीच 4 किस्तों में भेजी गई थी. सूत्रों की मानें तो इस पैसे का इस्तेमाल जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में किया गया था. एनआईए के पास युसूफ और एजाज के बीच बातचीत के सबूत भी हैं. एनआईए के पास पैसे ट्रांसफर से जुड़े सभी दस्तावेज और कॉल रिकॉर्ड मौजूद हैं. इन्हीं के आधार पर शाहिद की गिरफ्तारी की गई है.
 
बताते चलें कि पिछले कुछ महीनों में सुरक्षा एजेंसियां आतंकियों के परिजनों और उनसे जुड़े लोगों के बारे में खास जानकारी जुटा रही है. आतंक के लिए हवाला के जरिए रकम भेजने वालों पर भी एजेंसियां पैनी नजरें गढ़ाए बैठीं हैं. शाहिद के पिता और हिजबुल मुजाहिद्दीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन ने दो शादियां की हैं. शाहिद उसकी पहली पत्नी का बेटा है. सलाहुद्दीन अपनी दूसरी पत्नी के साथ पाकिस्तान में रहता है. इसी साल यूएन ने सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकी घोषित किया है. हिजबुल के अलावा वह यूनाइटेड जिहाद काउंसिल भी चलाता है. पठानकोट एयरबेस स्टेशन पर हमले की जिम्मेदारी यूनाइडेट जिहाद काउंसिल ने ही ली थी.
 
कौन है सैयद सलाहुद्दीन?
सलाहुद्दीन आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का चीफ है. भारत के खिलाफ लगातार जहर उगलने वाले सलाहुद्दीन का संगठन हिजबुल कश्मीर समेत पूरे देश में कई बार आतंकी हमले करा चुका है. अप्रैल 2014 में जम्मू कश्मीर में हुए बम धमाकों की जिम्मेदारी भी सैयद सलाहुद्दीन के आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन ने ही ली थी. इस हमले में 17 लोग घायल हुए थे. पठानकोट स्थित एयरबेस पर हमला भी सलाहुद्दीन के इशारे पर ही किया गया था.
 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर