नई दिल्ली: गुड़गांव के रेयान स्कूल में सात साल के प्रद्युम्न की हत्या के बाद लोग गुस्से में हैं. अभिभावक स्कूल को बंद करने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार का कहना है कि स्कूल बंद किया तो दूसरे बच्चों का भविष्य खराब हो जाएगा. सरकार ने रेयान स्कूल के मैनेजमेंट के खिलाफ जुवेनाइल एक्ट के तहत केस दर्ज करने का आदेश दिया है. 
 
क्या क़ातिल स्कूल पर सिर्फ केस से प्रद्युम्न को इंसाफ मिल जाएगा ? क्यों ना एक मासूम की जान लेने वाले रेयान स्कूल को बंद किया जाए ?
 
प्रद्युम्न की हत्या से नाराज अभिभावक आज सड़कों पर उतरे अभिभावकों ने स्कूल के बाहर प्रदर्शन किया. स्कूल के पास के शराब दुकान में आग लगा दी. जिसके बाद पुलिस ने अभिभावकों पर लाठीचार्ज किया. दो तस्वीरें आपके सामने है. पहली तस्वीर अभिभावकों के गुस्से की है. नाराज लोगों ने स्कूल के पास के बने शराब दुकान में आग लगा दी.
 
लोगों को काबू करने के लिए पुलिस ने लोगों को दौड़ दौड़ कर पीटा कई पत्रकारों को भी चोटें आई. अभिभावक स्कूल को बंद करने की मांग कर रहे हैं. इंडिया न्यूज़ से बातचीत में अभिभावकों ने कहा कि जिस स्कूल में उनके बच्चे की जिंदगी खतरे में हो वहां बच्चों को पढ़ाने से क्या फायदा. वहीं सरकार की दलील है कि स्कूल बंद करने से दूसरे बच्चों का भविष्य खराब हो जाएगा. 
 
हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा ने कहा कि उनसे कई अभिभावकों ने स्कूल बंद नहीं करने की मांग की है. राम विलास शर्मा ने कहा कि सरकार ने स्कूल के मैनेजमेंट के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दे दिया है. सवाल यही है कि एक बच्चे के कातिल स्कूल और शुरुआत मर्डर की बात छुपाने वाले लापरवाह रेयान को बंद क्यों ना किया जाए. क्या सिर्फ केस कर देने भर से रेयान के मालिकों को सजा मिल जाएगी ? क्या केस कर देने भर से प्रद्युम्न को इंसाफ मिल जाएगा ?
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App