नई दिल्ली: कांग्रेस ने गुजरात के अपने विधायकों को बीजेपी की नज़र से बचाने के लिए बैंगलुरु के जिस रिसॉर्ट में छिपा रखा है, आज वहां इनकम टैक्स की टीम जा धमकी. ये रिसॉर्ट कर्नाटक में कांग्रेस सरकार के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार का है. इनकम टैक्स की इस छापेमारी पर कांग्रेस ने संसद के दोनों सदनों में बवाल मचाया.
 
कांग्रेस का आरोप है कि गुजरात में राज्यसभा की तीसरी सीट जीतने के लिए बीजेपी ने इनकम टैक्स का छापा मरवाया. आखिर कांग्रेस के मंत्री के रिसॉर्ट पर इनकम टैक्स की रेड क्यों हुई ? इनकम टैक्स की इस रूटीन कार्रवाई को गुजरात के राज्यसभा चुनाव से क्यों जोड़ रही है कांग्रेस, आज इन्हीं सवालों पर होगी महाबहस.
 
इत्तेफाक राजनीति में भी होते हैं. ये और बात है कि जब एक के बाद एक इत्तेफाक जुड़ते चले जाएं, तो फिर उस पर राजनीति शुरू हो जाती है. आज कुछ ऐसा ही हुआ. इनकम टैक्स ने कर्नाटक में कांग्रेस बड़े नेता और कर्नाटक सरकार के ऊर्जा मंत्री डी के शिवकुमार के 39 ठिकानों पर छापा मारा. इत्तेफाक से एक ठिकाना बैंगलुरु का ईगलटन गोल्फ रिसॉर्ट भी था, जहां गुजरात के कांग्रेसी विधायकों को शनिवार से रखा गया है. कांग्रेस को लगा कि इनकम टैक्स की रेड भी गुजरात के कांग्रेसी विधायकों को तोड़ने की रणनीति का हिस्सा है, लिहाजा इस पर कर्नाटक से लेकर गुजरात और दिल्ली तक बवाल मच गया.
 
इनकम टैक्स की नज़र कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार पर पहले से थी. इसी साल मार्च में डीके शिवकुमार ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार इनकम टैक्स विभाग के जरिए उनका फोन टैप करा रही है. आज इनकम टैक्स की टीमों ने कर्नाटक से लेकर दिल्ली तक डीके शिवकुमार के 39 ठिकानों पर एक साथ छापा मारा. इनकम टैक्स का दावा है कि दिल्ली में डीके शिवकुमार के घर छापे में करीब साढ़े सात करोड़ कैश भी मिला है. इनकम टैक्स की टीम बैंगलुरु के ईगलटन गोल्फ रिसॉर्ट पर भी पहुंची. ये रिसॉर्ट डीके शिवकुमार का ही है और छापेमारी के वक्त डीके शिवकुमार रिसॉर्ट में ही मौजूद थे.
 
इसी रिसॉर्ट में कांग्रेस ने गुजरात के अपने 44 विधायकों को बीजेपी की पहुंच से दूर रखा हुआ है. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी गुजरात में राज्यसभा की तीसरी सीट जीतने के लिए कांग्रेस विधायकों को तोड़ना चाहती है. कांग्रेस विधायकों की मौजूदगी वाले रिसॉर्ट में इनकम टैक्स की टीम पहुंचने पर कांग्रेस ने आज संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा किया. हंगामे के चलते राज्यसभा की कार्यवाही गुरुवार तक के लिए स्थगित करनी पड़ी. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी राजनीतिक बदले की भावना से काम कर रही है और राजनीतिक फायदे के लिए रेड राज चला रही है.
 
छापेमारी पर बवाल के बाद बैंगलुरु में इनकम टैक्स विभाग ने प्रेस नोट जारी करके बताया कि डीके शिवकुमार के खिलाफ पहले से जांच चल रही थी. सबूत इकट्ठा करने के लिए आज छापेमारी हुई. केंद्र सरकार ने भी सफाई दी कि इनकम टैक्स की रेड का गुजरात में राज्यसभा चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि रिसॉर्ट पर कोई छापा नहीं मारा गया. वहां इनकम टैक्स की टीम सिर्फ डीके शिवकुमार को लाने के लिए गई थी.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App