नई दिल्ली: फिल्म इंदु सरकार 28 जुलाई को रिलीज़ हो रही लेकिन इससे पहले कांग्रेस के विरोध के चलते ये फिल्म सुर्खियों में है. कांग्रेस का विरोध क्यों है और क्या है फिल्म के निर्माता निर्देशक मधुर भंडारकर की सफाई. इस पर आज होगी महाबहस.
 
फिल्म डायरेक्ट प्रोडूसर मधुर भंडारकर की फिल्म इंदु सरकार को लेकर बवाल बढ़ता जा रहा है. कांग्रेस ने यह बात फिर कही है  कि उसको फिल्म दिखाए बगैर रिलीज करना गलत होगा. कांग्रेस का आरोप है कि इंदु सरकार 1975 इमरजेंसी को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की छवि को खराब करने की कोशिश है.
 
दूसरी तरफ मधुर भंडारकर कांग्रेस की इस आरोप से इंकार करते हैं. उनकी राय में ये फिल्म 30 फीसदी सच्ची घटनाओं और डाक्यूमेंटरी पर आधारित है लेकिन बाकी 70 फीसदी काल्पनिक है. भंडारकर के मुताबिक फिल्मों को इस लिहाज़ से नहीं देखना चाहिए कि वह किसी सच का दस्तावेज है और इंदु सरकार के खिलाफ किसी तरह का हो-हल्ला, हंगामा या दबाव स्वतंत्रा की आजादी के खिलाफ है.
 
पिछली कई दिनों से कांग्रेस इंदु सरकार को लेकर अभियान चलाए हुए है और पुणे और नागपुर में मधुर भंडारकर की प्रेस कॉन्फ्रेंस को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नहीं होने दिया. अब सवाल ये है कि फिल्म इंदु सरकार क्या सचमुच कांग्रेस या इंदिरा गांधी की छवि को खराब करेगी या फिर कांग्रेस सचमुच फिल्म विरोध की आड़ में कला और अभिव्यक्ति की आजादी के खिलाफ काम कर रही है. 
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App