नई दिल्ली. केंद्र सरकार देश में सौ पंचायतें करने जा रही है, जहां अल्पसंख्यकों की समस्याओं का मौके पर ही समाधान किया जाएगा. इसे नाम दिया गया है प्रोग्रेस पंचायत, जिस पर विपक्ष का माथा ठनक गया है.

ख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा दाव खेला है. केंद्र सरकार देशभर में मुस्लिम पंचायत लगाने जा रही है. गुरुवार को हरियाणा के मेवात से इस पंचायत की शुरुआत होगी. अल्पसंख्यकों की समस्याओं को दूर करने के लिए मोदी के नुमाइंदे मुस्लिम समुदाय के बीच जाएंगे.
 
लेकिन मोदी सरकार की प्रोग्रेस पंचायत पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं. मोदी सरकार की प्रोग्रेस पंचायत पर सवाल क्यों ? क्या बीजेपी की नजर भी मुस्लिम वोट बैंक पर है ?
 
आज इसी मुद्दे पर देखिए इंडिया न्यूज़ का खास कार्यक्रम बड़ी-बहस.