नई दिल्ली. दिल्ली में अरविंद केजरीवाल को दूसरी बार सत्ता में आए डेढ़ साल बीते हैं और डेढ़ साल में उन्हें अपने तीन मंत्रियों को बर्खास्त करने के लिए मजबूर होना पड़ा है, लेकिन जितनी छीछालेदर केजरीवाल के मंत्री संदीप कुमार ने कराई, उतनी पहले कभी नहीं हुई.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
केजरीवाल की कैबिनेट में महिला कल्याण और बाल विकास मंत्री रहे संदीप कुमार के सेक्स स्कैंडल से दिल्ली की राजनीति में भूचाल आया हुआ है. सेक्स स्कैंडल का टेप मीडिया के पास पहुंचने के बाद केजरीवाल ने आनन-फानन संदीप कुमार को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया और आम आदमी पार्टी अब इसे ही अपनी नैतिकता का पैमाना बता रही है कि दूसरी पार्टियों की तरह उसने अपने मंत्री को बचाया नहीं.
 
हालांकि ये भी सच है कि अब तक संदीप कुमार को आम आदमी पार्टी से सस्पेंड नहीं किया गया है. संदीप कुमार भी अपने बचाव में दलित होने की दुहाई से लेकर राजनीतिक साजिश का शिकार होने के दावे कर रहे हैं.
 
संदीप कुमार के सेक्स स्कैंडल पर बीजेपी और कांग्रेस ने सड़क पर मोर्चा खोल दिया है. पूरे दिन केजरीवाल और संदीप कुमार के खिलाफ प्रदर्शन होता रहा और शाम होते-होते बीजेपी के कई नेता संदीप कुमार, केजरीवाल और उनके डिप्टी मनीष सिसोदिया के खिलाफ FIR दर्ज कराने थाने भी पहुंच गए.
 
विपक्ष का आरोप है कि केजरीवाल पहले से जानकारी होने के बावजूद केजरीवाल ने संदीप कुमार के खिलाफ कार्रवाई नहीं की. केजरीवाल ने वीडियो बयान जारी करके संदीप कुमार के सेक्स स्कैंडल पर शर्मिंदगी जताई, तो दूसरी पार्टी के नेताओं के दाग भी गिनाने लगे. इंडिया न्यूज के खास शो बड़ी बहस में इन्हीं सवालों पर पेश है चर्चा.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो