भोपाल. 15 साल बाद मध्य प्रदेश की सत्ता में वापस लौटे कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता कमलनाथ को विधायक दल का नेता चुना गया है. भोपाल में कांग्रेस कार्यालय में कमलनाथ को विधायक दल का नेता चुना जाने का औपचारिक ऐलान हुआ. कमलनाथ 20 मंत्रियों के साथ शपथग्रहण लेंगे. 17 दिसंबर को कमलनाथ सीएम पद की शपथ लेंगे.

गौरतलब हो कि 230 विधानसभा सीटों में से 114 सीट पर जीत कर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी थी. चुनाव परिणाम के बाद सपा और बसपा ने भी कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान कर दिया है. चुनाव से पहले मायावती ने कांग्रेस के साथ ना तो मध्य प्रदेश में और ना ही राजस्थान में मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला किया था लेकिन कांग्रेस पार्टी को जीतता देख बीएसपी ने दांव खेला और किंग मेकर की भूमिका में आ गई. सूत्रों के मुताबिक बीएसपी के अलावा गोंधवाना गणतंत्र पार्टी और निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी कांग्रेस को समर्थन दे दिया है.

चुनाव तो कांग्रेस ने जीत लिया है लेकिन अब सबसे बड़ा सवाल ये है कि राज्य में मुख्यमंत्री पद का दावेदार कौन होगा. राज्य में पार्टी के पास दो बड़े चेहरे हैं कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया. दोनों ही सीएम पद का उम्मीदवार हैं. दोनों में से कौन सीएम बनेगा इसके लिए कांग्रेस ने ए के एंटनी को पर्यवेक्षक बनाकर मध्य प्रदेश भेजा है.

शाम चार बजे से विधायक दल की मीटिंग रखी गई है जिसमें ये तय हो जाएगा कि प्रदेश का अगला सीएम कौन बनने जा रहा है. वहीं दूसरी तरफ शिवराज सिंह चौहान भी आज मीडिया के सामने आए, उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जीत के बाद दस दिन में किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था, मैं उम्मीद करता हूं कि कांग्रेस अपने किए वादे को पूरा करेगी. उन्होंने कहा कि हमारे पास 109 विधायक हैं और हम जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभाएंगे.

Madhya Pradeh Election Result 2018: मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान का मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा, कमलनाथ ने पेश किया सरकार बनाने का दावा

Wikipedia says Sachin Pilot 14th CM of Rajasthan: कौन संभालेगा राजस्थान की सत्ता अभी तय नहीं लेकिन विकिपीडिया ने सचिन पायलट को बना दिया राज्य का 14वां सीएम

Live Blog

कमलनाथ 17 दिसंबर को भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में लेंगे मुख्‍यमंत्री पद की शपथ

कांग्रेस की ओर से कमलनाथ को सीएम बनाए जाने की घोषणा कर दी गई है. कमलनाथ 17 दिसंबर को सीएम पद की शपथ लेंगे. कमलनाथ भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में शपथ लेंगे.कमलनाथ 17 दिसंबर को भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेंगे. शपथ ग्रहन समारोह का भव्य आयोजन कार्यक्रम भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में आयोजित किए जाने को लेकर कांग्रेस पार्टी की तरफ से तैयारी शुरू हो गई है.

भोपाल स्थित कांग्रेस कार्यालय पहुंचे कमलनाथ और ज्योरादित्य सिंधिया, थोड़ी देर में होगा सीएम का एलान

दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर भोपाल वापस पहुंचे कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस कार्यालय पहुंच चुके हैं. मिली जानकारी के अनुसार थोड़ी देर में सीएम पद का ऐलान किया जा सकता है.

भोपाल में कांग्रेस कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ मौजूद

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के चयन की कवायत अपने चरम पर है. दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलकर कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया वापस भोपाल आ रहे हैं. थोरी देर बार कांग्रेस की एक बैठक भी होनी है. ऐसे में भोपाल स्थित कांग्रेस के कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ मौजूद है.

दिग्विजय सिंह पहुंचे भोपाल एयरपोर्ट, थोड़ी ही देर में कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पहुंचेंगे

मध्य प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह भोपाल एयरपोर्ट पहुंच चुके हैं. कुछ ही देर में कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के भी दिल्ली से भोपाल पहुंचने की खबर मिल रही है. बताया जा रहा है उन दोनों के पहुंचते ही मुख्यमंत्री का ऐलान होगा.

राहुल गांधी दिल्ली में करेंगे बैठक

आज दिल्ली में राहुल गांधी राजस्थान और मध्यप्रदेश के पर्यवेक्षकों के साथ बैठक करेंगे. मध्यप्रदेश में कांग्रेस जल्द ही मुख्यमंत्री पद के लिए नाम घोषित कर सकती है. अभी तक इस पर चर्चा की जा रही हैं. हालांकि कमलनाथ के नाम पर मोहर लगने की ज्यादा अटकलें हैं. भोपाल में आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक 4 बजे होगी इसमें मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान होगा.

नए मुख्यमंत्री के चयन का काम जारी - रणदीप सुरेजवाला, कांग्रेस प्रवक्ता

15 साल बाद मध्यप्रदेश की सत्ता में वापसी करने की दलहीज पर खड़ी कांग्रेस पार्टी ने मुख्यमंत्री पद पर अबतक कोई फैसला नहीं लिया है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि तीनों राज्यों में सीएम पद के चयन का काम जारी है. कांग्रेस लोकतंत्र में विश्वास करती है. लिहाजा पार्टी सभी विजेता विधायकों का मत जान रही है.

मध्य प्रदेश में समाजवादी पार्टी ने भी कांग्रेस को दिया समर्थन

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 में एक सीट पर जीत हासिल करने वाली समाजवादी पार्टी ने भी बुधवार को कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान किया. पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए इस बात की जानकारी दी. सपा के समर्थन के बाद अब कांग्रेस के पास 121 विधायकों का समर्थन मिल गया है. इसमें कांग्रेस के 114 विधायक, बसपा के 2 और सपा के 1 विधायक और निर्दलीय के चार विधायक.

मुख्यमंत्री पद के लिए कमलनाथ का पलड़ा भारी- सूत्र

चुनाव में जीत का परचम लहराने के बाद सीएम पद के लिए जारी खींचतान से यह बात सामने आ रही है कि मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के लिए कमलनाथ का पलड़ा भारी है. अनुभव और एमपी में पकड़ के लिहाज से कमलनाथ ज्योतिरादित्य सिंधिया से आगे निकलते दिख रहे हैं. एमपी में अगला सीएम कौन होगा इसका फैसला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को दिल्ली में करेंगे.

एमपी में मुख्यमंत्री कौन? राहुल गांधी लेंगे फैसला

मुख्यमंत्री पद के चयन के लिए आयोजित विधायक दल की बैठक में मुंख्यमंत्री चुनने का काम राहुल गांधी को सौंपा गया है. मध्य प्रदेश कांग्रेस की नेता शोभा ओझा ने कहा कि बैठक में सभी विधायक इस बात पर एकमत थे कि मुख्यमंत्री पद का फैसला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी करें.

राहुल गांधी ने किया था कर्जमाफी का वादा

राहुल गांधी ने वादा किया था कि अगर उनकी सरकार बनती है तो दस दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा और अगर नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री दस दिन में ऐसा नहीं कर पाते हैं तो 11वें दिन मुख्यमंत्री ही बदल दिया जाएगा.

शिवराज सिंह चौहान बोले- 10 दिन में माफ करो किसानों का कर्ज

वहीं दूसरी तरफ मु्ख्यमंत्री पद गंवाने वाले शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नई सरकार बनाने वाली पार्टी अपने वचनपत्र के मुताबिक 10 दिनों में प्रदेश किसान भाइयों का कर्ज माफ करे. उन्होंने वादा किया है कि ऐसा न करने पर वे अपना मुख्यमंत्री बदल देंगे

कौन होगा मध्य प्रदेश का अगला सीएम? सस्पेंस बरकरार

Madhya Pradesh Congress Legislature Party विधायक दल की बैठक में दोनों खेमों के समर्थक मौजूद हैं. कुछ लोग कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं तो कुछ लोग ज्योतिरादित्य सिंधिया को सीएम बनाने पर अड़े हुए हैं

मध्य प्रदेश का अगला सीएम तय करने के लिए विधायक दल की बैठक

Madhya Pradesh Government CM: मध्य प्रदेश के भोपाल में नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक चल रही है जिसमें दिल्ली से पर्यवेक्षक के तौर पर ए के एंटनी को भेजा गया है. बैठक फिलहाल जारी है

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App