दमोह. मध्यप्रदेश विधानसभा 2018 के नतीजे आने शुरू हो गए हैं. दमोह सीट से कांग्रेस प्रत्याषी राहुल सिंह आगे चल रहे हैं. इस बार मध्प्रदेश में भाजपा नहीं बल्कि कांग्रेस की सरकार बनती दिखाई दे रही है.  आपको बता दें 230 विधानसभा सीटों पर 28 नवंबर को चुनाव हुआ था. राज्य की सत्ता पिछले 15 सालों से भारतीय जनता पार्टी के हाथों में है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में पार्टी एक बार फिर चुनावी परीक्षा से गुजरने को तैयार है. हालांकि पिछले चुनावों से अलग इस बार भाजपा के लिए मुश्किलें ज्यादा है. पार्टी के कई पुराने नेता टिकट न पाने की वजह से बागी तेवर अपना चुके हैं. मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस भी ज्यादा ताकतवर नजर आ रही है. यूं तो राज्य की सभी सीटें अहम हैं लेकिन दिग्गज नेताओं के बीच मचे दंगल के कारण कुछ सीटें वीआईपी हैं.

Damoh constituency Election Result MP Vidhan Sabha 2018 Live Update:

5.36 : दमोह सीट पर कांग्रेस और बीजे  के  बीच कांटे की टक्कर है. बीजेपी के उम्मीदवार जयंत सिंह मलैया आगे चल रहे हैं इन्होंने अभी तक 46950 वोट हासिल कर लिए है. वही कांग्रेस के राहुल सिंह 43060 वोट हासिल  किए है. 

3:o0- दमोह सीट से कांग्रेस के राहुल सिंह आगे चल रहे हैं. राहुल सिंह 26344 से आंगे चल रहे हैं वहीं भाजपा के  जयंत मलैया 23702 से पीछे चल रहे हैं. 

12: 00 – मध्य प्रदेश की दमोह सीट पर फिलहाल कांग्रेस आगे चल रही है. कांग्रेस प्रत्याषी राहुल सिंह 14829 सीट से आगे चल रहे हैं तो वहीं भाजपा के जयंत मलैया 14156 दोनों प्रत्याषियों के बीच सीटों में कुछ ही सीटों का फासला है. 

11:30 – दमोह से भाजपा के जयंत मलैया को पछाड़ कर कांग्रेस के राहुल सिंह आगे निकल गए हैं. रूझानों पर नजर डाले तो इस बार भाजपा के हाथों से सत्ता की चाभी खिसकती दिखाई दे रही है. 

10:45 – रूझानों में एक बार फिर से कांग्रेस 4 से पांच सीटे भाजपा से आगे चल रही है. शिवराज सिंह चौहना से इस बार लगता है मध्यप्रदेश की जनता खफा है रूझान तो कुछ यही बता रहे हैं. 15 साल से शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में यहां भाजपा की सरकार का शासन रहा है  लेकिन इस बात लगता है सत्ता हासिल करना शिवराज सिंह के लिए थोड़ा मुश्किल रहेगा. 

10:00- मध्यप्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही हैं. शुरुआती रूझानों में फिलहाल भाजपा दो से तीन सीटों पर आगे चल रही है. लेकिन अभी नतीजों की कल्पना कर पाना बेहद मुश्किल होगा. 

9:00- मध्यप्रदेश में लगता है इस बार भी भाजपा के हाथ ही सत्ता की चाभी लगेगी शुरुआती रूझानों से यही इशारा मिल रहा है. भाजपा यहां फिलहाल 20 सीटें आगे लत रही है.

8:05- 15 साल से मध्यप्रदेश में जीत का परचम लहरा रही भाजपा का इस बार कांग्रेस से कढ़ा मुकाबला देखने को मिल रहा है. वोटों की गिनती शुरू हो गई है.

दमोह विधानसभा सीट को मध्यप्रदेश का हाई प्रोफाइल सीट माना जा रहा है. यहां से भाजपा के दिग्गज नेता जयंत मलैया चुनावी मैदान में हैं. शिवराज सिंह सरकार में नंबर दो की हैसियत रखने वाले मलैया मौजूदा सरकार में वित मंत्री हैं. कांग्रेस ने मलैया के खिलाफ राहुल सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है. 35 वर्षीय राहुल सिंह 73 वर्षीय जयंत मलैया के सामने हैं. सात बार विधानसभा चुनाव जीत चुके जयंत मलैया को इस बार अपनी जीत के लिए काफी मेहनत करनी पड़ रही हैं. कारण कि जयंत के पुराने साथी और भाजपा के दिग्गज नेता रामकृष्ण कुसमारिया पार्टी से नाराज होकर निर्दलीय मैदान में उतर चुके हैं.

दमोह विधानसभा सीट को भाजपा का गढ़ माना जाता है. पिछले 28 सालों से दमोह के मतदाता भाजपा प्रत्याशी को विधायक बनाते रहे है. लेकिन इस बार भाजपा के दो दिग्गजों के चुनावी मैदान में आने की वजह से मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है. भाजपा के टिकट पर सांसद और विधायक रह चुके रामकृष्ण कुसमारिया इस बार दमोह की पथरिया विधानसभा सीट से टिकट मांग रहे थे. लेकिन पार्टी ने उनकी मांग को खारिज कर दिया. टिकट नहीं मिलने से नाराज कुसमारिया ने पथरिया के साथ-साथ दमोह से निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला ले लिया. कुर्मी जाति के कुसमारिया के बागी तेवर से भाजपा को खामियाजा उठाना पड़ सकता है. इलाके में बाबा के नाम से मशहूर कुसमारिया को जो भी मत मिलेंगे, वो भाजपा से ही कटेगा. यह भी संभव है कि कुसमारिया और मलैया की भिड़ंत में कांग्रेस के राहुल सिंह मैदान मार जाए.

पिछले चुनाव में जयंत मलैया के सामने कांग्रेस के चंद्रभान भैया मैदान में थे. 2013 में इन दोनों के बीच कड़ा टक्कर हुआ था. जयंत मलैया बेशक चुनाव जीत गए थे, लेकिन कांग्रेस उम्मीदवार चंद्रभान और उनके बीच वोट का अंतर मात्र तीन प्रतिशत का था. जयंत मलैया को 72534 वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस के चंद्रभान भैया 67581 वोट पाकर दूसरे स्थान पर थे. दमोह से बहुजन समाज पार्टी ने भी मजबूत प्रत्याशी उतारा है. बसपा से कोमल अहिरवार मैदान में है. सात बार विधायक रह चुके मलैया उमा भारती, बाबूलाल गौर और शिवराज सिंह चौहान सरकार में भी मंत्री पद संभाल चुके हैं. लेकिन ऐसा लग रहा है कि अपने राजनीतिक जीवन के आखिरी चुनाव में मलैया को हार का सामना करना पड़ सकता हैं।

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: दमोह विधानसभा सीट के प्रत्याशियों की सूची
जयंत मलैया- भाजपा
राहुल सिंह- कांग्रेस
कोमल अहिरवार- बसपा
रामकृष्ण कुसमारिया- निर्दलीय

2013 विधानसभा चुनाव का परिणाम (दमोह विधानसभा सीट)
पार्टी प्रत्याशी मत
भाजपा जयंत मलैया 72534
कांग्रेस चंद्रभान भैया 67581
बसपा बसंत कुशवाहा 1903

Shivpuri Constituency Madhya Pradesh Vidhan Sabha Election 2018: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में शिवपुरी सीट पर शाही परिवार की यशोधरा राजे सिंधिया और सिद्धार्थ लाडा के बीच कड़ा मुकाबला, जानें 2013 में क्या था रिजल्ट

Budhni constituency Madhya Pradesh Vidhan Sabha Election 2018: शिवराज सिंह चौहान को टक्कर दे रहे हैं अरूण यादव, जानिए इस हाईप्रोफाइल सीट की राजनीतिक कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App