नई दिल्लीः शोधकर्ताओं ने डायबिटीज के इलाज के लिए आध्यात्मिक तरीका निकाला इन शोधकर्ताओं में ओसामिया जनरल हॉस्पिटल के रिसरचर्स भी शामिल हैं. शोधकर्ताओं का कहना है कि श्रीमदभागवद गीता से डायबिटीज से छुटकारा पाया जा सकता है. गीता में भगवान कृष्ण और अर्जुन के बीच हुई बातचीत बीमारियों के दूर करने में सक्षम है विशेषकर डायबिटीज जैसी बीमारी. शोधकर्ताओं का कहना है कि श्रीकृष्ण और अर्जुन के बीच हुए संवाद में जीवन की अलग-अलग दशाओं के बारे में बात की गई है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि गीता में नकारात्मकता से दूर सकारात्मकता की ओर ले जानी की शक्ति है जो बीमारियों से छुटकारा दिलाता है.उनका कहना है कि गीता में कही गई बातों को अपनाकर लाइफस्टाइल में चेंज लाकर डायबिटीज जैसी बीमारियों को भी मात दी जा सकती है. उनका कहना है कि गीता के अनुसार अगर व्यक्ति जीवन जीता है, खाता है, पीता है तो डायबिटीज जैसी बीमारियों से भी छुटकारा पाया जा सकता है. 

इंडियन जनरल ऑफ एन्ड्रोक्राओनोलॉजी एंड मेटाबॉलिज्म में पब्लिश रिपोर्ट को कई हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने तैयार किया है. भारत के अलावा ढाका मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल और मिटफोर्ड हॉस्पिटल, बांग्लादेश और आगा खान यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल, कराची, पाकिस्तान के डॉक्टर तक शामिल हैं. उनका कहना है कि श्रीमदभागवद गीता ना केवल एक आध्यात्मिक पुस्तक है इसमें मौजूद 700 से ज्यादा श्लोक जीवन को बदल सकते हैं और बीमारियों को दूर कर सकते हैं. गीता के हिसाब से अगर कोई अपनी लाइफस्टाइल चेंज करता है तो कई बीमारियों से निजात पाई जा सकती है. 

यह भी पढ़ें- गलतफहमी में ना रहें, थोड़ी शराब पीना भी स्वास्थ्य के लिए खतरनाक- रिसर्च

चेहरे की रंगत निखारना चाहते हैं तो अपनाएं बेसन से बने ये 4 फेस पैक