नई दिल्ली. vastu tips for your Home: घर में कोई नकारात्मक ऊर्जा हैं, जिससे घर में परेशानी बढ़ गई है, किसी भी प्रकार से नकारात्मक शक्ति से छुटकारा नहीं मिल रहा है तो आप अपने घर में नीबू का पेड लगा सकते हैं. नीबू का इस्तेमाल से घर का वातावरण को सकारात्मक बनाती हैं. जिस घर में नीबू का पेड़ होता है उस घर में किसी भी प्रकार का वास्तु दोष नहीं होता है.

साबुत उड़द की काली दाल के 38 और चावल के 40 दाने मिलाकर किसी गड्ढे में दबा दें और ऊपर से नीबू निचोड़ दें. नीबू निचोड़ते समय भगवान का नाम लेते रहे जिसे आप मानते हैं. फिर कोई दुश्मन आपका कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा. लेकिन कोई भी उपाय किसी के नुकसान के लिए नहीं करना है. सिर्फ अपनी सुरक्षा के लिए करें. क्योंकि मैं आपको कभी किसी का नुकसान करने वाला उपाय नहीं बताउंगी.

घर और दुकान पर लगी बुरी नजर के लिए
अक्सर दुकानों में हरी मिर्च के साथ एक नींबू टंगा होता है. जिस तरह एक प्याज टांगने से वह आसपास की गर्मी सोख लेता है उसी तरह नींबू बुरी नजर को सोख लेता है.माना जाता है कि नींबू का खट्टा और मिर्च का तीखा स्वाद बुरी नजर वाले व्यक्ति की एकाग्रता भंग कर देता है। जिससे वह अधिक समय पर घर या दुकान को नहीं देख पाता है.

वास्तु दोष मिटाएं नींबू :
जिस घर में नींबू का पेड़ होता है वहां किसी भी प्रकार की नेगेटिव एनर्जी एंटर नहीं हो पाती है. नींबू के पेड़ के आसपास का वातावरण शुद्ध होता है. पॉजिटिव एनर्जी रहती है. नींबू का पेड़ घर के वास्तुदोष को दूर कर देता है. अगर घर को किसी अनहोनी से सुरक्षित रखना है तो एक नींबू लेकर उसे घर के चारों कोनों में 7 बार घुमाएं और कहीं सुनसान जगह पर ले जाकर उसके चार टुकड़े करके चारों दिशाओं में नींबू का एक एक टुकड़ा फेंककर लौट आएं. लौटते वक्त पीछे मुड़कर न देखें.

सफलता के लिए नींबू
कड़ी मेहनत के बाद भी सफलता नहीं मिल रही है तो किसी हनुमान मंदिर जाएं और अपने साथ एक नींबू और 4 लौंग लेकर जाएं. इसके बाद मंदिर में पहुंचकर नींबू के ऊपर चारों लौंग लगा दें। फिर हनुमानजी के सामने हनुमान चालीसा का पाठ करें. इसके बाद हनुमानजी से सफलता दिलवाने की प्रार्थना करें और नींबू लेकर कार्य प्रारंभ कर दें. इससे आपके कार्य में सफलता की संभावना बढ़ जाएंगी.

महिलाओं के सम्मान में #WomenOfSteel समिट का आयोजन करेगा आईटीवी नेटवर्क

Tulsi Vivah 2018: ये है तुलसी विवाह की कथा, जानिए क्या है देवउठनी एकादशी की तिथि व महत्व

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App