नई दिल्लीः हमारे देश में सेक्स का एक ऐसा विषय है जिसपर कोई भी जल्दी बात करना नहीं चाहता लेकिन रूचि ज्यादातर लोग रखते हैं. इसी क्रम में एक विषय है ओरल सेक्स जिसको सुनते ही कुछ लोग या तो नाक मुंह सिकोड़ने लगते हैं या बात ही नहीं करना चाहते और इन्ही कारणों के चलते इसके साथ कुछ ऐसे मिथ्स जुड़ जाते हैं जिनको फैलते देर नहीं लगती. फिर लोग या तो ओरल सेक्स से तौबा कर लेते हैं या इसको बुरी चीज मानने लगते हैं. इसलिए हम आपको बताने जा रहे हैं ओरल सेक्स से जुड़े पांच मिथक जिनको जानने के बाद आपकी सेक्स लाइफ और भी बेहतर हो जाएगी.

ये हैं ओरल सेक्स से जुड़े पांच मिथ्स

1.अनहाइजीनिक होता है ओरल सेक्स
हाइजीन या अनहाइजीन होना व्यक्ति पर निर्भर करता है. क्योंकि अगर आप या आपका साथी अपने शरीर की साफ सफाई का विशेष ध्यान रखता है तो आपको इस बिंदु पर ध्यान देने की कोई जरूरत ही नहीं है. इसके अलावा एक से ज्यादा सेक्स पार्टनर होने के चलते भी अक्सर ये परेशानी सामने आती है लेकिन कई साथियों के होने के बाद भी अगर आप साफ सफाई का ध्यान रखते हैं तो यहां भी कोई समस्या नहीं आती.

2. वर्जिन नहीं रहते ओरल सेक्स करने वाले
सेक्स का नाम आते ही कुछ लोगों को लगता है कि सेक्स के नाम पर कुछ भी करो उससे आपकी वर्जिनिटी खत्म हो जाएगी जबकी असलियत इससे अलग है. किसी की वर्जिनिटी या कॉमार्य भंग तभी होता है जब दोनों लोग एक दूसरे के साथ शारीरिक संबंध यानि फिजिकल पेनिट्रेशन होना बहुत जरूरी होता है. इसलिए इस भ्रम में न रहें कि ओरल सेक्स से आपकी वर्जिनिटी खो जाएगी.

3. ओरल सेक्स से नहीं मिलता ऑर्गैज़्म यानि चरम सुख
ज्यादातर लोग मानते हैं कि ओरल सेक्स सेक्स से पहले होने वाला फोरप्ले होता है और इसमें ऑर्गेज्म यानि चरम सुख नहीं मिल सकता. लेकिन ये सिर्फ एक मिथ है. जबकि असलियत ये है कि ओरल सेक्स के दौरान इस बात की पूरी संभावना होती है कि आपके पार्टनर को ऑर्गेज्म मिल जाए और इस क्रम में महिलाओं को जल्दी चरम सुख की प्राप्ती होती है. इसलिए खुल कर ओरल सेक्स का आनंद लें और अपने पार्टनर को खुश रखें.

4. ओरल सेक्स से नहीं होती सेक्सुअली ट्रांसिमिटेड डिसीज
ये भी एक मिथ है और ऐसा बिल्कुल नहीं है क्योंकि ओरल सेक्स करते समय आपके और आपके पार्टनर की बॉडी फ्लूइड एक्सचेंज होता है जो स्किन या किसी दूसरे इनफेक्शन का कारण बन सकता है. इसलिए ओरल सेक्स के दौरान प्रिकॉशन लेना भी जरूरी होता है. इसमे सबसे ज्यादा बुरी बात ये होती है कि इससे हुए इनफेक्शन के निशान चेहरे पर आसानी से देखे जा सकते हैं.

5. कंडोम की ज़रूरत नहीं होती ओरल सेक्स के दौरान
ज्यादातर लोग मानते हैं कि ओरल सेक्स के दौरान कंडोम की जरूरत नहीं होती बल्कि ये बहुत हैरान कर देने वाली बात है कि मार्केट में बहुत सारे फ्लेवर्ड कंडोम की लंबी रेंज आ गई है लेकिन ज्यादातर लोग इन फ्लेवर्ड कंडोम के प्रयोग के बारे में अनजान ही रहते हैं. लोग सोचते हैं कि जो फ्लेवर्ड लुब्रिकेंट कंडोम पर लगा होता है वो उनकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है. लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं होता अगली बार जब आप ओरल सेक्स कर रहे हों तो इन फ्लेवर्ड कंडोम का प्रयोग कर सकते हैं.

लस्ट स्टोरीज रिव्यू- चार नामचीन डायरेक्टर्स ने रची पांच महिलाओं की यौन हसरतों की कहानी

फीफा वर्ल्ड कप देखने आए टूरिस्ट्स के साथ सेक्स कर सकती हैं रूसी महिलाएं: राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App