Sunday, September 25, 2022

Sleeping: रात के समय किस पोजीशन में सोना है अच्छा, जानिए यहां

नई दिल्ली: ठीक से नींद पूरी न होने से हमारे पूरे शरीर पर इसका बुरा असर पड़ता है. हम बिना सोये एक दिन भी नहीं रह सकते क्योंकी नींद हमारे लिए बेहद जरूरी है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके सोने की पोजीशन से भी आपके शरीर पर उतना ही असर पड़ता है.

जी हां, शरीर को अच्छे से काम करने के लिए पर्याप्त नींद का होना बेहद जरूरी है. इसके साथ ही आपके शरीर पर सीधा असर इस बात का भी होता है की आप किस तरह से सोते हैं.

इसी के चलते आपको को सोने के सही तरीके के बारे में पता जिससे कि आपकी बॉडी को किसी तरह की तकलीफ का सामना न करना पड़े. आइये आपको बताते हैं कि आपको रात के समय में किस पोजीशन में सोना चाहिए जिससे आपका शरीर भी स्वस्थ रह सके.

 

क्या कहते हैं डॉक्टर्स ?

एक्सपर्ट्स का कहना है कि गलत तरीके से सोने से खर्राटे के साथ-साथ आपको स्लीप एपमिया और बैक पेन जैसी परेशानी हो सकती हैं. इतना ही नहीं, इससे आपकी नींद में दखल, डिप्रेशन व तनाव में बढ़ोतरी और खराब ब्लड सर्कुलेशन की परेशानी भी हो सकती है. बहरहाल, ऐसे में अब सवाल उठता है कि सोने का ठीक तरीका क्या है? आइये आपको बताते हैं:

सीधा सोना

आपको बता दें कि सीधा सोना यानी कि पीठ के बल सोना सबसे कॉमन तरीकों में से एक हैं. पीठ के बल सोने सेआपकी स्पाइनल कॉर्ड यानी कि रीढ़ की हड्डी प्राकृतिक स्थिति में रहती है. इतना ही नहीं ऐसे सोने से आपके शरीर की गर्दन, पीठ और कंधे में दर्द जैसी समस्या भी खत्म हो जाती है.

 

एक करवट पर सोना

गौरतलब है कि कई सारी स्टडीज से ये पता चला है कि ज्यादातर लोग एक करवट पर सोते हैं. ऐसे में ये पोजीशन लोगों के लिए काफी सबसे कंफर्टेबल और आरामदायक मानी जाती है. एक करवट में सोने से इंसान को अच्छी नींद आती और वह आरामदायक महसूस करता है. इसके साथ ही इस स्थिति में सोने से आपको किसी भी तरीके का खतरा नहीं होता है.

 

 

इस पॉजीशन में बिलकुल भी ना सोएं

 

शोध के अनुसार, हमें उल्टा यानी कि पेट और फिर छाती के बल कभी भी नहीं सोना चाहिए. ऐसा इसलिए क्योंकि आपके लिए ये काफी ज्यादा खतरनाक साबित हो सकती है. ऐसा इसलिए क्योनि इस तरह सोने से शरीर के फेफड़ों और चेस्ट कैविटी पर बहुत ज्यादा मात्रा में दबाव पड़ता है. जिससे आपको आगे चलकर सांस की समस्या हो सकती है.

 

यह भी पढ़ें

Latest news