नई दिल्लीः एक्स बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड को लेकर वैज्ञानिकों के रिसर्च में एक बड़ी बात सामने आई है. अपनी रोमांटिक लाइफ को लेकर इनसिक्योर व्यक्ति फेसबुक पर ज्यादातर समय अपनी एक्स को देखने में समय बिताते हैं. साथ ही ऐसे लोग झूठा इंप्रेशन बनाने के लिए एक्स के साथ सोशल मीडिया पर अपनी पर्सनल इनफॉर्मेशन शेयर करते हैं. वहीं एनएक्सिटी के शिकार लोग अपनी तुलना दूसरे फेसबुक यूजर्स से करने में ज्यादा समय बिताते हैं. रिसर्चर्स का मानना है कि यह बातें सामने आने के बाद वे आशा करते हैं कि कोई फेसबुक पर लॉगइन करने से पहले सोचेगा कहीं वह इन विकारों का शिकार हो नहीं हुआ है. 

स्कूल ऑफ साइकोलॉजी में हुए रिसर्च के अनुसार अपनी रोमांटिक लाइफ में इनसिक्योर फील करने वाले लोग फेसबुक पर उसे पूरा करने के लिए लोगों की तलाश करते हैं. शोधकर्ताओं ने 717 व्यस्कों से इससे संबंधित क्वैश्यनायर भरवाया जिसमें ये बातें सामने आई हैं. शोधकर्ताओं का कहना है कि अपने रोमांटिक लाइफ में असंतुष्ट या इन सिक्योर फील करने वाली व्यक्ति फेसबुक पर या तो अपनी एक्स गर्लफ्रेंड की प्रोफाइल पर नजर रखते हैं या किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश में लगे रहते हैं जो उनकी अधूरी इच्छाओं को पूरा कर सके. 

शोधकर्ताओं का कहना है एनएक्सिटी, डिप्रेशन से पीड़ित लोग इस तरह के विकारों से प्रभावित होते हैं. यह बात स्कूल ऑफ साउकोलॉजी में हुए रिसर्च में सामने आई है. शोधकर्ताओं ने 717 लोगों पर इसे लेकर रिसर्च किया जिसमें यह बातें सामने आई हैं. 

यह भी पढ़ें- गर्लफ्रेंड डैनी विल्स से पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने की शादी, इंस्टाग्राम पर शेयर किया फोटो

डेस्टिनेशन वेडिंग की कर रहे हैं प्लानिंग तो जानिए उससे जुड़ी ये खास बातें

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App