नई दिल्लीः  मॉनसून के समय मौसम सुहाना हो जाता है ऐसे में किसी का भी दिल में रोमांस के अंकुर पनप सकते हैं ऐसे में यदि आप भी खुद को रोमांटिक महसूस कर रहे हैं और अपने पार्टनर के साथ यौन संबंध बनाने की सोच रहे हैं तो कुछ बातें जानना आपके लिए बहुत जरूरी है. क्योंकि इन बातों पर ध्यान दिए बिना अगर आप अपने पार्टनर के साथ रोमांस करेंगे तो ये मौसम आपको कई संक्रामक बीमारियों का शिकार बना सकता है. इसलिए बारिश के मौसम में पार्टनर के साथ संबंध बनाने से पहले हम आपको बताने जा रहे हैं कि इस इस बरसात के मौसम में किन बातों का ध्यान रखकर आप अपने पार्टनर के साथ खुद को सुरक्षित रख सकते हैं.

मॉनसून और रोमांस का चोली दामन का साथ है क्योंकि यही बरसात का सीजन प्यार का होता है. इस मौसम में हर जवां दिल में रोमांस का पौधा उग आता है ऐसे में हर किसी की चाहत होती है कि इस बरसात के मौसम में अपने साथी के साथ यौन संबंध बनाकर इस बारिश के मौसम को और खुशनुमा बनाया जाए. बरसात के मौसम में अपने पार्टनर के साथ संबंध स्थापित करने का अपना अलग ही मजा होता है फिर चाहें आप खुली छत पर बारिश के दौरान करें या फिर घर के अंदर बिस्तर पर.

बारिश और रोमांस के साथ-साथ आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना जरूरी है वरना आपके रोमांस पर ये मॉनसून पानी फेर सकता है. याद रखें की बारिश का मौसम रोमांस के साथ अपने साथ कई संक्रामक बीमारियां भी साथ लेकर आता है. इसलिए आपको इस मौसम में रोमांस के साथ-साथ अपनी और अपने पार्टनर की साफ सफाई का भी पूरा ध्यान रखना होगा. तभी आप इस रोमांटिक मौसम का मजा ले सकेंगे.

बारिश और रोमांस के बीच विलेन बन सकती हैं ये बीमारियां-

मानसून के दौरान यौन संबंध बनाना आपको और आपके पार्टनर को बीमार कर सकता है अगर आपने कुछ सावधानियां नहीं बरती तो आपको बुखार, जुकाम, सर्दी और अन्य संक्रामक बीमारियां घेर सकती हैं इसलिए अगर आपको सर्दी, बुखार, जुकाम है तो अपने पार्टनर के साथ संबंध बनाने का इरादा कुछ समय के लिए छोड़ ही दें वरना आपके साथ आपका साथी भी बीमार हो सकता है.

जेनाईटल हर्पीस (Genital herpes)
जेनाईटल हर्पीस बैक्टीरियल इंफेक्शन से होने वाला यौन संचारित रोग है. ऐसे में अगर आप मॉनसून के मौसम में यौन संबंध बनाने सोच रहे हैं तो आपको इस बात की बहुत ज्यादा संभावना होती है कि आप जेनाईटल हर्पीस की चपेट में आ जाएं. हर्पीस की चपेट में आने के बाद आपके गुप्तांगों के पास छोटे-छोटे छाले और फोड़े निकलने लगेंगे. इसलिए अगर साफ सफाई का ध्यान रखेंगे तो इस संक्रमण की चपेट में आने से बचे रहेंगे.

नेचुरल लुब्रिकेशन की कमी (Natural lubrication)
अगर आप खुलें में बारिश के दौरान अपने साथी के साथ यौन संबंध बना रहे हैं तो ये बात याद रखें की बारिश के दौरान पानी के संपर्क में आने पर नेचुरल लुब्रिकेशन काम नहीं करता. क्योंकी बारिश का पानी आपने गुप्तांगों में बनने वाले नेचुरल लुब्रिकेंट को निष्क्रिय कर देता है. ऐसे में लुब्रिकेंट के निष्क्रिय होने से बारिश में सेक्स करना आपके और आपके पार्टनर के लिए दर्दनाक हो सकता है.

ओरल सेक्स से बचें (Oral sex)
इस मॉनसून के मौसम में बारिश के मौसम में साफ सफाई रखने के बाद भी अगर आप खुद को और अपने पार्टनर को स्वस्थ और सुरक्षित रखना चाहते हैं तो जहां तक हो सके ओरल सेक्स से परहेज करें. क्योंकि बरसात के मौसम में ऐसा करना आपके और आपकी साथी के लिए नुकसान दायक सिद्ध हो सकता है. क्योंकी और बारिश के मौसम में ओरल सेक्स करने से सुजाक (gonorrhoea) नामक संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं जो कि एक सेक्सुअल ट्रांसमीटिड इंफेक्शन है.

रिसर्च में खुलासा, सेक्स के दौरान आधे पतियों को नहीं होता पत्नी के चरम सुख का अंदाजा

आपकी सेक्स लाइफ को तबाह कर देंगे ये 7 सेक्स किलर फूड, ये रही पूरी डिटेल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App