नई दिल्ली. श्रीकृष्ण जयंती व उनके जन्म को जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है. इस बार जन्माष्टमी 2018 2 सितंबर की है. इस दिन मंदिरों व घरों में जागरण व झांकियां निकाली जाती हैं. इस दिन श्रद्धालु दिनभर व्रत करते हैं और रात 12 बजे श्रीकृष्ण के जन्म के बाद धनिया के प्रसाद से अपना व्रत खोलते हैं. इस मौके पर माताएं अपने बच्चों को कृष्ण रूप में तैयार करती हैं. स्कूलों में बच्चे इस दिन राधे का रूप धारण कर पहुंचते हैं. तो इस खास मौके पर जानें कैसे आप अपने बच्चे को सबसे सुंदर कान्हा बना सकती हैं.

1) पीले धोती- श्रीकृष्ण की पोषाक की बात करें तो सबसे पहले पीले रंग ही ध्यान में आता है. कहा जाता है कि श्रीकृष्ण को पीला रंग बेहद प्रिय था. आप भी बच्चों को तैयार करने के लिए पीले रंग की धोती पहनाएं.

2) मोर मुकुट: श्रीकृष्ण की हर प्रतिमा पर एक चीज कॉमन होती है वह है मोर पंख. मोर पंख बच्चे को तैयार करते समय जरूर लगाएं. ज्योतिष के अनुसार मोर का पंख काफी शुभ भी होता है.

3) बांसुरी, मालाएं: श्रीकृष्ण जैसे मोहक दिखाने के लिए माताएं बच्चों को सांकेतिक बांसुरी और मोतियों की मालाएं भी पहनाएं. ये दिखने में खूबसूरत लगेगी और लुक भी अच्छा देगी.

Krishna Janmashtami 2018: सालों बाद जन्माष्टमी पर बना श्रीकृष्ण जयंती योग, भाग्यशाली होगा इस दिन जन्म लेने वाला बच्चा

Krishna Janmashtami 2018: 3 सितंबर को श्री कृष्ण जन्माष्टमी, व्रत और पूजा विधि