नई दिल्ली: काली चौदस दिवस 2019 दिवाली त्योहार से पहले मनाया जाता है. इस बार ये दिन 14 अक्टूबर को मनाया जाएगा. इस खास दिन महाकाली की पूजा होती है. इस दिवस को पूरे भारतवर्ष में धूमधाम से मनाया जाता है. वही गुजरात में इस दिन को हनुमान पूजा के नाम से मनाया जाता है  

क्यों मनाया जाता है काली चौदस

  • काली चौदस दिवस मनाने से घर में सुख शांति का वास होता है. इस खास दिन मां काली की पूजा होती है जिससे सभी नकारात्मक उर्जा का नाश होता है. 
  • कहा जाता है कि इस दिन बुरी आत्माओं को भी खाना खिलाया जाता है जिससे वह खुश होती हैं. 
  • खास बात ये है कि इस दिन तेल से फैमली के लोगों को नहलाया जाता है और गर्म पानी के सिवा कोई भी सदस्य नहा नहीं सकता है.
  • शनि दोष को  भी दूर करने का काम शनि चौदस करती है. 

काली चौदस पूजा करने के  फायदे

  • इस फेस्टिवल को मनाने से सभी इच्छाएं पूरी होती है. 
  • इसके अलावा इस पूजा को करने से आस्था सिद्धी में की जानकारी बढ़ जाती है. 
  • इसके अलावा किसी दुश्मन ने आपके ऊपर या अपके परिवार पर ब्लैक मैजिक किया है तो इससे वह सब दूर हो जाता है. 
  • इसके अलावा कहा जाता है कि काली चौदस पूजा करने से वैवाहिक जीवन में आ रही समस्या दूर हो जाती है. 

काली चौदस फेस्विल में कैसे करे पूजा

  • काली चौदस की पूजा रात 11.50 से शुरु होगी जो रात 12.30 सुबह तक चलेगी. 
  • इस पूजा को साउथवेस्ट और वेस्ट की तरफ मुंह रख कर करनी चाहिए.
  • इस पूजा के दौरान सरसों के तेल का लैप थोड़ी देर के लिए इस्तेमाल करना चाहिए.
  • इस पूजा में बरगद के पत्ते भी इस्तेमाल किए जाते हैं. 
  • इस पूजा के दौरान जो प्रसाद होगा उसको भोग घर के बाहर लगाया जाता है.

Gupt Navratri 2019 on 3 July: जानिए आषाढ़ गुप्त नवरात्रि की पूजा विधि, समय और उससे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

Shri Satyanarayan Vrat Katha Video: सत्यनारायण भगवान की कथा, पूजा विधि-सामग्री, महत्व और फल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App