नई दिल्ली. आज के समय में ब्लड प्रेशर बढ़ना या घटना एक आम समस्या है और हर दूसरा व्यक्ति इसका शिकार हो रहा है. किसी-किसी पर तो यह बिमारी इतनी हावी है कि उनका पूरा जीवन क्रिया ही खराब हो जाती है. हाई ब्लडप्रेशर को अक्सर साइलेंट किलर भी कहा जाता है क्योंकि यह तेजी से शरीर में दाखिल हो जाता है. हाई ब्लड प्रेशर हो जाने पर व्यक्ति के क्रोध का स्तर बेहद बढ़ सकता है जिसकी वजह से वह खुद के शरीर को भी नुकसान पहुंचा सकता है.

लो ब्लड प्रेशर को मेडिकल की भाषा में हायपोटेंशन भी कहा जाता है. अगर किसी व्यक्ति की ब्लड प्रेशर की रीडिंग 90 और 60 से कम है तो वह लो बीपी के श्रेणी में आता है. कम ब्लड प्रेशर दिल की बीमारी का इशारा भी करता है. क्योंकि ब्लड फ्लो सीधे तौर पर दिल की पंपिंग की क्रिया पर भी निर्भर करता है.

क्या है हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण
अगर आपको लगातार सिर दर्द हो रहा तो उसका कारण हाई ब्लड प्रेशर भी हो सकता है. वहीं छाती में दर्द की शिकायत भी हाई ब्लड प्रेशर की मुख्य वजह हो सकती है. अगर आपकी नजर कमजोर हो गई है तो हो सकता है उच्च रक्तचाप की चपेट में आप आ गए हैं. वहीं अगर सांस लेने में दिक्कत का सामना कर रहे हैं या नाक से खून निकल जाता है तो ये भी हाई ब्लड प्रेशर के लक्ष्ण हो सकते हैं.

क्या है लो ब्लड प्रेशर के लक्षण
अगर आपको चक्कर आता है या अचानक आंखों के सामने अंधेरा छा जाता है या धुंधला दिखाई देने लगता तो समझ लीजिए आपको बीपी लो हो गया है. इसके अलावा उल्टी जैसा मन होना, थकान होना, ध्यान लगाने में परेशानी होना, हाथ-पैर ठंडे हो जाना, चेहरा सफेद पड़ना, सांस लेने में दिक्कत होना, खाने में परेशानी होना भी निम्न रक्तचाप के लक्षण हो सकते हैं.

Diwali 2019 Recipes: इस दिवाली इन खास व्यंजनों के साथ करें घर आएं मेहमानों का स्वागत

Karobar Badhane ke Upay in Hindi: बिजनेस के अचूक टोटके खोल देंगे किस्मत, रोजगार बढ़ेगा, कारोबार में होगी बंपर तरक्की

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर