नई दिल्ली. Health पपीता एक ऐसा फल है जो फाइबर, विटामिन और मिनरल्स से भरपूर होता है.यह फल अब साल के ज्यादातर समय में उपलब्ध होता है. पपीते को खाने से मनुष्य के शरीर को कई ऐसे फायदे मिलते है, जो अमेजिंग हेल्थ बेनेफिट्स प्रदान करते है. इसे सुबह या भोजन से पहले खाने से काफी फायदा मिलता है. इससे स्किन भी बेहद ग्लो करने लगती है. लेकिन कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जिन्हें पपीता खाने से बचना चाहिए.

पथरी से पीड़ित व्यक्ति

दरअसल, पपीते में ज्यादा मात्रा में विटामिन सी होता है. पोषक तत्व एक रिच एंटीऑक्सीडेंट है, लेकिन पहले से ही गुर्दे की पथरी की समस्या से पीड़ित लोगों के जरिए इस पोषक तत्व के ज्यादा सेवन से स्थिति और अधिक खराब हो सकती है. विटामिन सी के बहुत ज्यादा सेवन से कैल्शियम ऑक्सालेट किडनी स्टोन का निर्माण हो सकता है. और अगर पहले से आप पथरी या गुर्दे की समस्या से जूझ रहे हैं तो ये आपके ले और समस्या खड़ी कर सकता है.

गर्भवती महिला

गर्भवती महिलाओं को भी पपीते के सेवन से बचना चाहिए. निश्चित रूप से गर्भवती महिला पर अपने गर्भ में पल रहे बच्चे के अच्छे पोषण की जिम्मेदारी होती है. ऐसे में उन्हें अपने खान-पान की लिस्ट में से पापीते को दूर रखना चाहिए. मीठे फल में लेटेक्स होता है जो गर्भाशय के संकुचन को ट्रिगर कर सकता है, जिससे शुरुआती प्रसव हो सकता है.

स्किन एलर्जिक व्यक्ति

स्किन से जुडी समस्या वाले लोगों को भी पपीते से दूरी बनाई रखनी चाहिए. पपीते में चिटिनासेस नामक एंजाइम होता है. एंजाइम लेटेक्स और उनमें शामिल भोजन के बीच एक क्रॉस-रिएक्शन की वजह बन सकता है, जिससे छींकने, सांस लेने में कठिनाई, खांसी और आंखों में पानी आता है. वहीं देखा जाता है कि कुछ लोगों को पके पपीते की महक से भी एलर्जी होती है.

यह भी पढ़ें:

पाकिस्तान ने भारत को सूचित किया कि वह गेहूं, दवाओं को अफगानिस्तान ले जाने की अनुमति देगा

International Flights From 15 Dec इंटरनेशनल फ्लाइट्स 15 दिसंबर से शुरू करने के फैसले का होगा रिव्यू

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर