नई दिल्ली. बकरीद पूरे देश में 22 अगस्त को मनाई जाएगी. हर तरफ बकरा ईद की तैयारी चल रही हैं. बाजार सज गये हैं. बकरा ईद का त्यौहार पूरे देश में हर्ष उल्लाह के साथ मनाया जाता है. बकरा ईद को ईद उल अजहा, ईद उल जुहा के नाम से भी जाना जाती है. इस दिन सभी मुसलमान बकरों की कुर्बानी देते हैं. जानवरों की कुर्बानी देकर मुसलमान हजरत इस्माइल अलेअस्लाम की कुर्बानी को याद करते हैं.

इस दिन हजरत इस्माइल अल्लाह को अपनी सबसे अजीज चीज़ यानी बेटे को कुर्बान करने चले थे. लेकिन अल्लाह ने इनकी इमानदारी देख बेटे की जगह बकरे को रख दिया था. इसीलिए बकरीद मनाई जाती है. बकरीद का दिन फर्ज-ए-कुर्बान का दिन माना जाता है. इस दिन इस्लाम में गरीब बेसहार और मजलूमों को खास तौर से ख्याल रखा जाता है. बकरा ईद पर कुर्बानी के गोश्त को तकसीम किया जाता है.

ईद के त्यौहार पर रिश्तेदार और दोस्तो से मिला जाता है. लेकिन अलग अलग शहरों या विदेशों में रहने वाले लोग इस मौके पर अपनों से नहीं मिल पाते, ऐसे में वो लोग मोबाइल और इंटरनेट के जरिए एक दूसरे को बकरा ईद का संदेश भेजते हैं. टेक्नॉलजी के बढ़ते इस्तेमाल के चलते अब लोग बकरा ईद का संदेश भेजने के लिए वॉट्सऐप, फेसबुक जैसे प्लेटफॉर्म का सहारा लेते हैं. बकरीद के खास मौकै के लिए यहां 10 मैजेस दिए जा रहे हैं, जिन्हें भेजकर आप सबसे पहले इस बकरीद की मुबारक बाद दे सकते हैं.

Eid al-Adha 2018: जानिए इस्लाम में क्यों जरूरी है कुर्बानी, क्या है इसका इतिहास

Bakra Eid Mubarak 2018: इस बकरीद इन फेसबुक, व्हाट्सएप और GIF मैसेजों को भेजकर दोस्तों को दें मुबारकबाद

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App