नई दिल्ली. आज 31 अक्टूबर को नहाय-खाय के छठ महापर्व शुरू हो गया है जो कि 03 नवंबप को सुबह अर्घ्य देने के साथ समाप्त होगा. छठ पर वर्षों से गीत गाने की परंपरा चली आ रही है. इस चार दिन पर्व के दौरान विभिन्न अवसरों पर छठ के गीत गाए जाते हैं. छठ के दौरान प्रसाद बनाते समय, खरना के समय, सूर्य को अर्घ्य देने जाने समय और सूर्य देव को अर्घ्य देकर लौटके समय गीत गाने का विधान है.

लोक आस्थ के इस महापर्व में मैथली भाषा में भी कई गीत गाए हैं जो इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे हैं. आइए जानते हैं छठ के कुछ लोकप्रिय मैथिली गीत.

छठ पूजा के दिन सूर्योदय का समय 06.33 बजे है जबकि सूर्यास्त का समय शाम 5 बजकर 35 मिनट पर है. 02 नवंबप को षष्ठी तिथि 00.51 बजे से शुरू होगा जबकि इसका समापन 03 नवंबर को 01 बजकर 31 मिनट पर होगा.

सब दिन उगईछ हो दीनानाथ– इस गीत को मैथली लोक गायिका पूनम मिश्रा ने गाया है. इस गीत को सूर्य देव को अर्घ्य देते समय गाया जाता है.

पैसा बिना छठी कोना हेतै– इस गीत को मैथली लोक गायिका विमल निराला ने गाया है.

हे छठी मैया– पूनम मिश्रा का ये गीत काफी लोकप्रिय है. इसका गीत अक्षय आनंग सन्नी द्वारा तैयार किया गया है.

दीनानाथ के आरती दिखाऊ हे सखी– यह मैथली छठ गीत भगवान सूर्य को समर्पित है. इस छठ गीत में भगवान भास्कर की आरती के बारे में है.

कांच ही बांस केर गहबर हो दीनानाथ– इस पारंपरिक छठ गीत को मैथली लोक गायिका पूनम मिश्रा ने गाया है.

Also Read, ये भी पढ़ें– Chhath Puja 2019: नहाय-खाय के साथ आज 31 अक्टूबर से शुरू हुआ छठ महापर्व, जानिए कब है खरना

Happy Chhath Puja 2019 Shayari in Hindi: इस छठ अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भेजें ये खास हैप्पी छठ पूजा शायरी

Chhath Puja 2019: छठ पूजा के लिए इस तरह तैयार करें घाट, भूलकर भी न करें ये गलतियां

Happy Chhath Puja 2019 Shayari in Hindi: इस छठ अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भेजें ये खास हैप्पी छठ पूजा शायरी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App