नई दिल्ली: शनिवार से चैत्र नवरात्र शुरु हो रहे हैं. पूरे देश में चैत्र नवरात्र की धूम है. मां दुर्गा के 9 शक्तिपीठों के साथ-साथ देश के सभी बड़े मंदिरों में चैत्र नवरात्र की रौनक देखते ही बनती है. धर्म ग्रंथ और पुराणों में भी चैत्र नवरात्र काफी शुभ माना गया है क्योंकि ये आषाण और आश्विन महीने में आता है और ये वो समय होता है जब फसलें उगने लगती है. सूर्य अपने उत्तरायण की गति में होता है और वासंती ऋतु अपने चरम पर होती है. यह वजह है कि चैत्र नवरात्र को वासंती नवरात्र भी कहा जाता है.

नवरात्र में पूरे विधी विधान के साथ मां दुर्गा की पूजा अर्चना की जाती है और घर में कलश की स्थापना होती है. पंडितों के मुताबिक इस बार पूजा का शुभ मुहूर्त 11:44 से शुरू होकर 12:34 तक होगा. जानकारी के मुताबिक इस बार नवरात्र रेवती नक्षत्र में शुरू होगा. इस योग में मां दुर्गा की घर में स्थापना और पूजा अर्चना करने से बाकी दिनों के मुकाबले कई गुना ज्यादा फल और सिद्धि की प्राप्ति होती है. वहीं घट स्थापना का मुहूर्त सुबह 6 बजे से 10 बजकर 7 मिनट तक रहेगा और अभिजित मुहूर्त 11:46 से 12:36 तक रहेगा.

दुर्गा सप्तशी और दुर्गा चालीसा का पाठ किया जाता है. इसके साथ ही मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए उनकी भेंटे भी गाई जाती है. यूं तो मां दुर्गा के कई भजन हैं जो भक्तों की जुबान पर होती है लेकिन उनमें से कुछ भेंट ऐसी हैं जो इतनी अच्छी है कि उन्हें अगर आप दिन में सौ बार भी सुनते हैं तो मन-मस्तिष्क पूरी तरह भक्तिमय हो जाता है. ऐसे ही कुछ भजनों की श्रंख्ला हम आप तक निकालकर लाए हैं जिन्हें आप नवरात्र में सुनते हैं तो आपके आसपास का माहौल भक्तिमय हो जाएगा.

Chaitra Navratri 2019 4th Day Puja: चैत्र नवरात्र के चौथे दिन मां कूष्माण्डा की पूजा करने से होगी रोग से मुक्ति, जानें पूजा विधि और मंत्र

Chaitra Navratri 2019 3rd Day Puja: चैत्र नवरात्र के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की आराधना करने से खुल जाएगी किस्मत, जानें पूजा विधि और मंत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App