नई दिल्ली. क्या आप अपने बच्चे का व्यवहार पहले से बदला हुआ महसूस कर रहे हैं. क्या आपका बच्चा पहले से शांत और स्वाभाव में चिड़चिड़ा हो गया है. अगर ऐसा है तो हो सकता है वह गांजे का शिकार बन चुका हो. चौंकिए मत, आज के समय में युवा पीढ़ी शराब के साथ-साथ गांजा, चरस, अफीम जैसे खतरनाक नशों में डूबती जा रही है. इसके साथ ही डूब रहा है उनका आने वाला करियर. हालांकि हम ये नहीं कह रहे कि हर बच्चे के स्वभाव में बदलाव का कारण नशा हो सकता है. लेकिन आजकल देश के युवाओं में नशे के प्रति रुझान के चलते अब बच्चों के अभिभावकों का सतर्क हो जाना जरूरी हो गया है.

गौरतलब है कि अगर आपको अपने बच्चे में बदलाव नजर आ रहा है और दिन-प्रतिदिन खराब हो रहे उसके व्यवहार से आप परेशान आ गए हैं. तो जरूरत है कि आप पहचान करें कि कहीं वह किसी खतरनाक नशे की गिरफ्त में तो नहीं. ऐसे में ध्यान रखें कि जब भी आपका बच्चा कहीं बाहर से घर आता है और उसकी आंखों में आपको लालिमा नजर आती है तो हो सकता है वह इस नशे का शिकार बन रहा हो या बन चुका हो. वहीं अगर आपका बच्चा पहले से ज्यादा शांत और अकेला रहने की कोशिश करता है या पहले की तरह अब आपसे बातचीत नहीं करता तो हो सकता है कि उसने गांजे का नशा शुरू कर दिया हो. वहीं अगर आपका बच्चा पहले के मुकाबले कम खाने लगा हो या एक समय में बेहद ज्यादा खा रहा हो तो यह भी इस नशे के लत होने की एक निशानी है.

दरअसल बताया जाता है कि गांजे को पीने के बाद व्यक्ति का दिमाग शांत हो जाता है. नशे के आदी बच्चे के कार्यशैली में कुछ धीमापन आ जाता है. शुरूआत में तो नशे करने वाले को यह सब बेहद अच्छा और मन खुश करने वाला लगता है. जिसके कारण उसे धीरे-धीरे इसकी लत लग जाती है. अगर आपके बच्चे को इस तरह के किसी भी नशे की लत लग गई है तो घबराने से बेहतर उसे प्यार से समझाने की कोशिश करें. अगर नशे की लत छुड़ाने के लिए आप उसके साथ गुस्से का व्यवहार करेंगे तो चांस कम है कि वह नशे को छोड़े. वहीं अगर आपको लगता है कि आपके बच्चा नशे की लत में ज्यादा घुस गया है तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं. इसके साथ ही उसे हर समय इन नशों से होने वाली परेशानियों से आगाह करते रहें.

शराब के नशे में महिलाओं को सेक्स की वस्तु के तौर पर देखने लगते हैं मर्द, रिसर्च में खुलासा

शराब के नशे में डूबने से हुई श्रीदेवी की मौत, ड्रिंक करने के बाद भूलकर भी ना करें ये 10 काम

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App