नई दिल्ली: आज की भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में नींद लेना बेहद मुशिकल साबित होता जा रहा है. जैसे अच्छे स्वास्थ्य के लिए हमे बेहतर खाने की सलाह दी जाती है वैसे ही रोज़ाना एक निश्चित समय सीमा तक नींद लेना ज़रूरी है वार्ना इसका बुरा प्रभाव आपकी सेहत पर पड़ सकता है. आइए आपको बताते हैं कि उम्र के हिसाब से किसे कितनी नींद लेने की ज़रुरत है.

नींद पूरी न होने पर हो सकती है कई बीमारियां

अगर आप एक अच्छा और स्वस्थ शरीर चाहते हैं तो आपको पर्याप्त मात्रा में नींद लेनी होगी. उम्र के हिसाब से एक निश्चित मात्रा में नींद ना लेने पर आपको कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है. पर्याप्त मात्रा में नींद न लेने से आप टाइप 2 डायबिटीज, हार्ट डिजीज, मोटापा और डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं. कई लोग ऐसे हैं जो बिज़ी शेड्यूल के चलते रोज़ाना देर रात तक ही सो पाते हैं और सवेरे जल्दी भी उठ जाते हैं.

इसलिए होती है नींद की ज़रुरत

स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो रात के समय सिर्फ सोना ही पर्याप्त नहीं है. इसके अलावा ये भी बेहद ज़रूरी होता है कि आप कब सो रहे हैं, कितने बजे तक सोते हैं और आपकी स्लीप क्वॉलिटी किस तरह की है. विशेषज्ञों के अनुसार रात में ढंग से नींद पूरी ना होने के कारण दिन में नींद, थकान और मूड खराब होने के साथ-साथ आपको कई तरह बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है.

किसको कितनी नींद की ज़रुरत

यूं तो नींद लेना सभी के लिए सामान रूप से ज़रूरी है लेकिन, हम आपको बताते हैं कि उम्र के मुताबिक किसको कितनी नींद की आवश्यकता होती है. इसमें बात सबसे पहले नवजात शिशु की करें तो उन्हें 11-14 घंटे की नींद चाहिए होती है. प्री- स्कूल के बच्चों को 10 से 13 घंटे, बच्चों (6-13 साल) को 9 से 11 घंटे, किशोर को 8-10 घंटे, वयस्क को 7-9 घंटे और बुजुर्गों को 6-8 घंटे की नींद लेना ज़रूरी है.

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर