स्वीडन.स्वीडन दुनिया का पहला कैशलेस देश बनने जा रहा है. अध्ययन में पता चला है कि स्वीडन साइबर अपराध पर काबू पाने में काफी हद तक कामया ब रहा है इसलिए स्वीडन के लोग कैश की बजाय डिजिटल पेमेंट ज्यादा करने लगे है. 
 
छोटी खरीदारी का भी जरिया बना कार्ड
 
स्वीडन में छोटी से छोटी खरीदारी के लिए बैंक कार्ड का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जा रहा है. अध्ययन के मुताबिक स्वीडिश क्राउन के सर्कुलेशन में भारी गिरावट देखी गई है जहां 6 साल पहले ये सर्कुलेशन 106 अरब था वहीं उसकी संख्या घटकर 80 अरब रह गई है. 
 
मोबाइल पेमेंट सिस्टम है बेस्ट
 
स्वीडन में केटीएच रॉयल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी में रिसर्चर निकलस आरविदसॉन ने बताया कि स्वीडन ने तेजी से मोबाइल पेमेंट सिस्टम का यूज हो रहा है जिसकी वजह से जल्द ही स्वीडन दुनिया का पहला कैशलेस राष्ट्र बन जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यहां कैश का इस्तेमाल बहुत ही कम है और बहुत ही तेजी से घट रहा है.
 
बैंक भी नहीं है पीछे
स्वीडन में कई बैंक ऐसे है जिनकी सभी शाखाएं 100 प्रतिशत डिजिटल है जहां कैश पेमेंट का कोई मतलब नहीं है. सभी बैंकों ने एटवांस आईटी सिस्टम को अपना लिया था जिससे पेमेंट में आसानी तो आती है ही साथ ही खर्च भी बहुत कम होता है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App