सिडनी. ऑस्ट्रेलिया के एक शोधकर्ता की खोज से त्वचा कैंसर के इलाज के लिए नई एवं बेहद कारगर औषधियों के विकास की उम्मीद जगी है. यह खोज त्वचा कैंसर ‘मेलनोम’ के इलाज में बेहद कारगर हो सकता है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, न्यूकैसल विश्वविद्यालय ने शोधकर्ता सू डॉन्ग झैंग द्वारा इस खोज की घोषणा की. झैंग की इस खोज से दुनियाभर के शोधकर्ता उत्साहित हैं.

झैंग ने आर1पी1 नाम के एक प्रोटीन का पता लगाया है जो मेलनोम कोशिकाओं को जीवित रहने में मदद करता है. वास्तव में यह प्रोटीन कोशिकाओं की स्वाभाविक मौत की प्रक्रिया से संबद्ध है. उन्होंने कहा, “हमने आर1पी1 से संबंधित कोशिकाओं के स्वाभाविक मौत के पहलू की जांच शुरू की, लेकिन जब हमें पता चला कि मेलनोम कोशिकाओं के जीवन में यह एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, तो हमने अपना सारा ध्यान इसी पर केंद्रित कर दिया.”

उन्होंने कहा, “ऐसा लगता है कि यह मेलनोम के प्रारंभिक दौर से ही अनियंत्रित हो जाता है, इसलिए अगर हम इस अणु को खत्म करने की प्रक्रिया पर नियंत्रण कर लें, तो दवा के बिना या दवा के साथ हम मेलनोम कोशिकाओं को खत्म करने में सक्षम हो सकेंगे.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App