मियामी. अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने पृथ्वी जैसे दूसरे ग्रह खोज का दावा किया है. इसे ‘कैप्लर 452बी’ नाम दिया गया है. यह ग्रह सौरमंडल के अंदर ही है. शोध के मुताबिक, ‘कैप्लर 452बी’ पृथ्वी की ही तरह चट्टानी है. अपने तारे से उतना ही दूर है, जितना सूरज से पृथ्वी. यह न ज्यादा गर्म है और न ही ज्यादा ठंडा. इस कारण इस पर पानी और जीवन होने की उम्मीद है. पृथ्वी जैसा जीवन होने की उम्मीद के कारण इसे Earth 2.0 का भी नाम दिया जा रहा है.

स्पेस टेलीस्कोप कैप्लर ने की खोज
पृथ्वी से बाहर जीवन ढूंढ़ने की नासा की कोशिशों में इस खोज को अहम कदम माना जा रहा है. नासा के स्पेस टेलीस्कोप कैप्लर ने इस ग्रह की खोज की है. इसे 2009 में लॉन्च किया गया था. इसने 2015 में गोल्डिलॉक जोन (जीवन की संभावना वाले) में आठ नए ग्रहों की खोज की है. 0.95 व्यास वाला ये टेलीस्कोप करीब एक लाख तारों की चमक पर नजर रखता है.

पृथ्वी से कितना मिलता है नया प्लैनेट
1. यह भी सूरज की तरह अपने स्टार का चक्कर लगाता है और 385 दिन लेता है.
2. इसकी परतें भी पृथ्वी की तरह चट्टानी है.
3. Earth 2.0 का तापमान भी पृथ्वी की तरह है. न ज्यादा गर्म और न ज्यादा ठंडा. अनुमान है कि अगर यहां ऐसा सरफेस है तो फिर जीवन संभव है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App