लंदन. सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर एक महिला पत्रकार ने आरोप लगाया है कि उसने ‘निक नेम’ का इस्तेमाल करने के कारण उसका पेज हटा दिया है.

द गार्डियन के मुताबिक, साप्ताहिक राजनीतिक पत्रिका ‘न्यू स्टेट्समैन’ में योगदान संपादक लौरी पैनी ने कहा कि निक नेम का उपयोग करने के कारण फेसबुक ने उसे साइट से हटा दिया है. लौरी गार्डियन के लिए भी लिखती हैं.

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘फेसबुक ने मुझे प्रतिबंधित कर दिया है, क्योंकि मैंने उपनाम का इस्तेमाल किया था, ताकि मैं अतिवादी लोगों द्वारा कोसे जाने से बच सकूं.’

दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘मुझे अपना वास्तविक नाम इस्तेमाल करने को बाधित करने के लिए फेसबुक का शुक्रिया. मुझे अब दुष्कर्म और जान से मारने की ज्यादा धमकियां दी जाएंगी.’

कुछ समय पहले इसी तरह का एक और मामला सामने आया था, जब फेसबुक ने समलैंगिकों और किन्नरों की उनके द्वारा चुने गए नाम रखने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था. 

IANS

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App