नई दिल्ली. कई बार सेक्स के दौरान फैंटेसी के लिए कुछ लोग ऐसा करते है जिसकी कल्पना भी नहीं तक सकते है. लेकिन क्या आपको पता है ये आपकी सेक्स लाइफ को बेहतर तो बनाता है लेकिन कभी-कभी खतरनाक साबित हो सकता है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
नुमाइशबाजी
सेक्स में फैंटेसी के चक्कर में लोग नुमाइशबाजी करते है. इस सेक्स का मतलब है आप बाहर खुलेआम सेक्स करते है बिना परवाह किए कोई आपको देख ले, या आपके बारे में क्या सोच रहा है.
 
करना चाहिए या नहीं ?
इस नुमाइशबाजी को लेकर अक्सर ये बात कही जाती है कि इसे करना चाहिए या नहीं तो आपको सबसे पहले कुछ बात समझने की जरूरत है. सबसे पहले आप दोनों एक दूसरे के साथ कितने टाइम से है इस पर डिपेंड करता है.
 
दूसरी बात ऐसी जगह पर बिलकुल भी सेक्स न करें जहां पकड़े जाने पर जेल जाने का खतरा हो. तीसरी और सबसे महत्वपूर्ण बात आप किसी नुमाइश की वस्तु नहीं है की कोई भी कही भी आपके साथ कुछ भी कर सके.
 
लेटेक्स फैंटेसी 
लैटेक्स फैंटेसी का अर्थ होता है आप सेक्स के दौरान डिजाइनर कपड़ें पहनते है जैसे कैट सूट या टाइट ड्रेस.
 
करना चाहिए या नहीं ?
जब भी सेक्स के दौरान ऐसी ड्रेस पहने तो ये जरूर देखें कि वह आरामदायक हा या नहीं है. ड्रेस पहने के बाद आप आराम से सांस ले रहे हैं या नहीं, कोई तकलीफ तो नहीं हो रही.
 
बचपना करें
सेक्स के दौरान बचपना करना. इसका अर्थ ये हुआ कि आप सेक्स के दौरान ऐसे करें जैसे कोई छोटा सा बच्चा बोटल में दूध पीते वक्त करता है. इसका मतलब यह हुआ कि आप सेक्स के दौरान बस उस पल में खो जाएं.
 
करना चाहिए या नहीं ?
आप एक दूसरे को बहुत टाइम से जानते है तो ये करना कोई गलत नहीं होगा. लेकिन अगर कोई फर्स्ट डेट पर इस तरह से बात करें तो आपको उस रिश्ते को वही खत्म कर देने में ही भलाई है.