नई दिल्ली. प्रेग्नेंसी के इस खूबसूरत पड़ाव से हर महिला को गुजरना पड़ता है. 9 महीने किसी भी महिला के लिए गुजारना काफी मुश्किल होता है. ऐसे में अगर आपकी डिलिवरी नॉर्मल नहीं होती है तो डिलिवरी के बाद भी आपको परेशानी होती है. इसलिए हम आपके लिए कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं जिससे आपकी डिलिवरी नॉर्मल हो सकती है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रोजाना व्यायाम जरुर करें 
ऐसे समय में महिलाओं को आराम करने की सलाह दी जाती है. लेकिन अगर व्यायाम करने से आपको फायदा होता है तो जरूर करें. व्यायाम से आप चुस्त रहेंगी और नॉर्मल डिलिवरी के दर्द को बर्दाश्दत सकेंगी. लेकिन इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि व्यायाम करते वक्त व्यायाम विशेषज्ञ से जरूर पूछ लें क्योंकि गलत तरीके से करने से आपके व आपके बच्चे की जान खतरे में पड़ सकती है.
 
तनाव से दूर रहें
तनाव से केवल आपकी परेशानी ही नहीं बढ़ाती बल्कि प्रेग्नेंसी में कई काम्प्लकेशन को भी बढ़ सकते हैं. इसका सबसे अधिक प्रभाव आपके व आपके बच्चे की सेहत पर पड़ता है. अगर बेवजह तनाव महसूस हो रहा है तो अपने डॉक्टर से मिलकर और इसके पीछे छुपे कारण को जानने की कोशिश करें.
 
खान-पान पर ध्यान दें 
प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को कमज़ोरी आती है. इस कमजोरी को घटाने के लिए डॉक्टर गोलियां भी देते हैं. लेकिन जो ताकत हमें खाने से मिलती है वो गोलियों से नहीं मिल सकती. यदि आप नॉर्मल डिलिवरी चाहती है तो सही समय पर खाएं और सही आहार खाएं.
 
डिलिवरी की कहानियों को न सुनें
इस समय बहुत से लोग अपनी कहानियां सुनाते हैं. कई लोगों के पास सुनाने के लिए कई किस्से होते हैं. लेकिन उन्हें न सुनने की जिम्मेदारी आप पर है. डरावनी कहानियों को सुनने से आपके मन में डर बैठ जाएगा और आप निगेटिव सोचने लगेंगी.
 
परेंटल क्लासेज लें
इन क्लासों में गर्भावस्था व गर्भावस्था के बाद के महीनों से जु़ड़ी कुछ जरूरी बातें बताई जाती हैं. बच्चे व मां से जुडी बातों की समझ रखने वाला एक्सपर्ट ही इन क्लासों को चलाता है ताकि आप अपनी कोई भी समस्या इन्हें खुल के बता सकें. इसके अलावा, वे नॉर्मल डिलिवरी पाने के लिए जरूरी कसरत भी सिखाते हैं.