नई दिल्ली. नवरात्र के नौ दिन हर घर में मां दुर्गा के नौं रूपों की पूजा होती है. लोग कलश स्थापना करके पूरे नवरात्र व्रत रखकर मां दुर्गा की उपासना करते हैं. इसके साथ ही उन्हें नौं दिनों तक मां के स्वरूप के अनुसार उन रंगों के कपड़ों का प्रयोग करने से विशेष लाभ मिलता है.    
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पहला दिन- दुर्गा जी का पहला रूप ”शैलपुत्री” का हैं. इनके कपड़ा का रंग लाल होता है. इसलिए नवरात्र के पहले दिन लाल रंग के कपड़े पहनने चाहिए. 
 
दूसरे दिन- नवरात्र के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है. इस दिन रॉयल ब्लू रंग के कपड़ों का इस्तेमाल करना चाहिए.
 
तीसरे दिन- नवरात्र के तीसरे दिन मां चन्द्रघंटा की आराधना की जाती है. इसलिए आज के दिन साधको को पीले रंग के कपड़ें पहनने चाहिए.
 
चौथे दिन- मां दुर्गा का चौथा स्वरूप कूष्माण्डा देवी का है. आज के दिन कूष्माण्डा देवी स्तुति की जाती है. इसलिए चौथे दिन हरे रंग के कपड़ों पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए.
 
 
पांचवें दिन- नवरात्र के पांचवें दिन मां स्कन्दमाता की उपासना की जाती है. आज के दिन ग्रे रंग का कपड़ा पहनना चाहिए. 
 
छठें दिन– मां दुर्गा के छठें स्वरूप का नाम कात्यानी देवी है. इस दिन मां कात्यानी देवी का पूजा-अर्चना की जाती है. छठें दिन साधकों को ऑरेंज रंग के कपड़े पहनने चाहिए.
 
सातवें दिन– नवरात्र के सातवें दिन मां कालरात्रि की पूजा की जाती है. इस दिन सफेद रंग के कपड़े पहनने से लाभ मिलता है.
 
आठवें दिन– आठवें दिन दुर्गा की आठवीं शक्ति महागौरी हैं. महागौरी का स्वरूप गुलाबी रंग का होता है, इसलिए आज के दिन गुलाबी रंग के कपड़ों का ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए. 
 
नौवें दिन- नवरात्र के नौवें दिन नौवें स्वरूप मां सिद्धदात्री की पूजा की जाती है. मां सिद्धदात्री का रंग गोरा माना जाता है. इसलिए नौवें दिन साधकों को सफेद रंग के कपड़े पहनना शुभ है.