नई दिल्ली. एक स्टडी के अनुसार शादी के 5 साल के अंदर करीब 82% कपल्स मोटे हो जाते हैं. उनका 5 से 10 किलो तक वजन बढ़ जाता है. इनमें भी लड़कियों का वजन जल्दी बढ़ता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इसके अलावा अपने पार्टनर के साथ न्यू रिलेशनशिप के कारण होने वाले हार्मोनल चेंजेस भी हैं. लेकिन सिर्फ यही एक वजह नहीं है. खासकर भारतीय महिलाओं के बढ़ते वजन की और भी कई वजह हैं. जानें और क्या है वजह….
 
ओवर ईटिंग
नई-नई शादी में शुरु में हर वक्त कुछ न कुछ खाना-पीना लगा रहता है. तो जिस वजह से फैट वजन बढ़ता है.
 
हार्मोन्स में बदलाव
शादी के बाद लाइफस्टाइल बदल जाता है, जिस वजह से कई हार्मोनल बदलाव आते हैं. जिससे भी मोटापा बढ़ता है.
 
लापरवाही
शादी से पहले लड़कियां अपने लुक्स पर बहुत ध्यान देती हैं. तरह-तरह की एक्सरसाइज करती हैं. शादी के बाद बिजी शेड्यूल की वजह से अपने फिगर का ठीक से ध्यान नहीं रख पाती.
 
कम सोना
शादी के बाद ज्यादातर महिलाओं का सोने का टाइम बदल जाता है, जिससे नींद पूरी नहीं हो पाती. जो वजन बढ़ने का सबसे बड़ा कारण है.
 
खुद पर ध्यान न देना
शादी के बाद महिलाओं की प्राथमिकताएं भी बदल जाती है क्योंकि नए परिवार और नए घर और पति के अनुसार रुटिन हो जाता है. खुद पर ध्यान न देने की वजह से मोटापा बढ़ने लगता है.
 
प्रेग्नेंसी
प्रेग्नेंसी मोटापे का सबसे बड़ा कारण है. ज्यादातर कपल्स शादी के तुरंत बाद बच्चा प्लान कर लेते हैं. कई महिलाएं प्रेग्नेंसी के समय मोटी हो जाती हैं. 
 
टीवी देखना
शादी के बाद अक्सर ऐसा होता है कि न्यू फैमिली और हसबैंड के साथ टीवी और मूवी देखना काफी ज्यादा हो जाता है. खाना खाकर सो जाना या बैठे रहने से भी मोटापा बढ़ता है.
 
तनाव का बढ़ना
शादी के बाद कई लड़कियों के लिए नई जगह एडजस्ट होने में टाइम लगता है. जिससे तनाव बढ़ने के साथ-साथ चर्बी भी बढ़ती है.
 
उम्र की वजह से
आजकल लड़कियां 28 से 30 की उम्र तक शादी करती हैं. सर्वे के अनुसार 30 के बाद बॉडी का मेटाबॉलिक रेट काफी कम हो जाता है. मोटापा बढ़ता है.