लंदन. आज के जमाने में लोग ज्यादातर अपने फोन पर बिजी रहते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि यह आपके टेंशन का कारण है. अगर आप टेंशन, चिंता और दुख से दूर रहना चाहते हैं तो अपने फोन में ई-मेल बंद रखें और इसका कम से कम इस्तेमाल करें. यकीन मानिए इससे आपके लाइफ में खोई हुई खुशियां वापस लौट आएंगी.
 
एक नए रिसर्च के अनुसार ई-मेल कम्यूनिकेशन का एक बेहतरीन माध्यम है पर यह दुख और टेंशन का एक बड़ा सोर्स भी है. करीब 2 हजार लोगों पर किए गए सर्वेक्षण में लंदन फ्यूचर वर्क सेंटर ने पाया है कि जिन व्यक्तियों को लगातार ई-मेल प्राप्त होते रहते हैं. वह व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के मुकाबले ज्यादा दुखी और हताश रहते है. 
 
इस अध्ययन के मुख्य लेखक रिचर्ड मैककिनन ने बताया, “हमारा शोध दर्शाता है कि ई-मेल दोधारी तलवार है. यह बातचीत का आसान तरीका है, लेकिन यह अवसाद, दबाव और तनाव का जनक भी है.” रिचर्ड कहते हैं, “जिन लोगों ने इसे बहुत उपयोगी बताया था. उन्हीं लोगों ने ज्यादा शिकायत की है.” अध्ययन के अनुसार, ई-मेल के दबाव से अन्य कर्मचारियों की तुलना में प्रबंधकों को अधिक दो-चार होना पड़ता है.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App