नई दिल्ली. भारतीय परिधान में साड़ी सबसे अहम मानी जाती है. आजकल भले ही मार्डन लाइफस्टाइल के कारण साड़ी चलन तोड़ा कम हो गया है. लेकिन साड़ी आज भी फैशन में है और सदियों से फैशन में बनी हुई है. हम कितने भी मार्डन बन जाए लेकिन दिल हमारा कल्चर नहीं जाता है. जब कोई पार्टी या फंक्शन की बात आती है तो हमारे दिमाग में सबसे पहले साड़ी आती है. क्योंकि साड़ी में लड़कियां जितनी खूबसूरत लगती है उतना किसी और ड्रेस में नहीं. चाहे शादी हो या कॉलेज पार्टी में अक्सर गर्ल्स हॉट ड्रेस को छोड़कर साड़ी पहनती है.आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी साड़ियों के बारे में, जो भारतीय महिलाओं के लिए बेहद मायने रखती हैं.

बनारसी साड़ी
उत्तर भारत में बनारसी साड़ी काफी फेमस है. बनारसी साड़ी का प्रयोग विशेष कर शादी में किया जाता है. बनारसी साड़ी वाराणसी में बनाई जाती है. एक बनारसी साड़ी को तैयार करने में 6 महीने तक का समय लग जाता है. सिल्क साड़ी पर चांदी और सोनो की जरी का काम किया जाता है. जिसके के लिए बनारसी साड़ी विश्व में फेमस है. मल्टी बनारसी साड़ी, पौड़ी, पौड़ी नक्काशी, कतान अम्बोज, टिपिकल बनारसी जंगला, जामेवार, कतान प्लेन,कतान फैंसी, तनछुई बनारसी आदि कई वरायटीज़ में ये साड़ियां उपलब्ध हैं.

 

कांजीवरम साड़ी
कांजीवरम साड़ियां इंडिया की सबसे ज्यादा मशहूर और महंगी साड़ियों में से एक हैं. यह सिल्क साड़ी में सबसे पॉपुलर साड़ी है. इसका नाम तमिलनाडु के एक गांव पर है, जहां इस सिल्क को बनाया जाता है. यह अन्य सिल्क साड़ी के मुकाबले ज्यादा भारी होती है. इस साड़ी का सबसे बेस्ट पार्ट होता है इसका पल्लू, जो अलग से बनाकर बाद में साड़ी से जोड़ा जाता है.

नौवरी साड़ी
साड़ी आपको एलीगेंट लुक देती है. नौवारी साड़ी काफी पॉपुलर साड़ी है. यह 9 गज की साड़ी होती है इसलिए ही इसे नौवरी साड़ी कहा जाता है. इस तरह की साड़ी महाराष्ट्र में अधिक पहनी जाती है. महाराष्ट्र में शादी और पूजा पाठ में महिलाएं नौवरी साड़ी पहनती है.

धाकई जामदानी साड़ी ( बंगाली साड़ी )
धाकई जामदानी साड़ी का नाम ढाका के नाम पर इस तरह की साड़ी बांग्लादेश और पश्चिम बंगाल में पहनी जाती है. पूरे भारत में बंगाली साड़ी को काफी पसंद किया जाता है. ऐसा कहा जाता है बंगाल की महिलायां साड़ी में मीठा जहर लगती है.

चंदेरी साड़ी
चंदेरी साड़ी का चलन इनदिनों काफी बढ़ गया है. चंदेरी साड़ी वजन में हल्की होती है. साथ ही यह गर्ल्स को सेक्सी लुक भी देता है. चंदेरी साड़ी को मध्यप्रेदश की देन कहा जाता है. यह सिल्क और रेशम का मिक्स वर्जन होता है. आपको बता दें कि चंदेरी साड़ी को केवल राजघरानों की रानी ही पहनती थी, लेकिन आज के समय में चंदेरी साड़ी सबके पास है.

संबलपुरी साड़ी
सिल्क और सुती कपड़े के मिक्स वर्जन से बनी ये साड़ी बहुत ही खूबसूरत है. संबलपुरी साड़ी उड़िसा में बनाई जाती है. उड़ीसा में इन साड़ी का विशेष महत्व होता है. संबलपुरी साड़ी के डिजाइन में चक्र, मोर और फूल के डिजाइन के किए जाते है.

पैठानी साड़ी
पैठानी साड़ी को हाथ से बुना जाता है. यह महाराष्ट्र की फेमस साड़ी है. यह भी कांजीवरम साड़ी की तरह काफी महंगी साड़ियों में से एक हैं. इस साड़ी में अच्छा रेशम का प्रयोग किया जाता है. इस साड़ी में कई कलर का प्रयोग किया जाता है. यह केवल भारत में ही नही बल्कि विदेशों में भी काफी फेमस है.

पटोला साड़ी
पटोला साड़ी गुजरात की सबसे फेमस साड़ी है. गुजरात में पटोला साड़ी पहना काफी अच्छा माना जाता है. क्योंकि यह बहुत ही मंहगी साड़ी होती है. इस साड़ी को हाथ से बनाया जाता है. एक साड़ी को तैयार करने में 2 साल लग जाते है जिसके कारण यह साड़ी काफी महंगी हो जाती है. कोई गुजराती लड़की शादी में पटोला साड़ी पहनती है तो उसे भाग्यशाली समझा जाता है.

धानियाकाली साड़ी
धानियाकाली बंगाल की फेमस कॉटन की साड़ी है. इस साड़ी का नाम पश्चिम बंगाल के नाम पर रखा गया है. जहा इस साड़ी को विशेषकर बनाया जाता है. साड़ी में धारियों, चेकों और पूरक सीमाओं को शामिल किया जाता है. इस सिपंल लुक साड़ी को बंगाल में ही नहीं बल्कि पूरे देश में काफी पसंद किया जाता है.

 

बंधेज साड़ी
बंधेज साड़ी राजस्थान की फेमस साड़ियों में से एक है. खासकर जयपूर में इन साड़ियों का क्रेज बहुत अधिक देखने को मिलता है. किसी भी पार्टी या फंक्शन में महिलाएं विशेषकर बंधेज साड़ी पहनती है.

ये भी पढ़े

शिल्पा शेट्टी ने पहनी 3D स्टाइल बॉर्डर वाली फ्लोरल साड़ी, तो लोग बोले- जच नहीं रही

Valentine Week List 2018: वैलेंटाइन वीक के हर दिन को ऐसे बनाएं अपने पार्टनर के लिए स्पेशल

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App