लखनऊ: समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच अमेठी और रायबरेली की 10 सीटों के बंटवारे पर चल रहा विवाद खत्म होता नजर आ रहा है. नए समझौते के तहत सपा 8 और कांग्रेस 2 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.
 
दरअसल चुनाव आयोग की तरफ से यूपी विधानसभा के पांचवे चरण के लिए अधिसूचना जारी हो गई है. पांचवे चरण में 11 जिलों की 52 सीटों में चुनाव होने है.
 
जिसमे अमेठी और रायबरेली जैसे जिले भी आते है. चुनाव से पहले समाजादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन के बीच हुए गठबंधन में रायबरेली और अमेठी 10 सीटों में 8 पर कांग्रेस और 2 सीटों पर सपा ले लड़ने पर सहमति बन गई है.
 
हालांकि अभी भी अमेठी खास की सीट पर स्थिति साफ़ नहीं हुई है. इस सीट पर पिछली बार समाजवादी पार्टी की तरफ से यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति ने जीत दर्ज की थी.
 
 
जिसकी वजह से उनका पार्टी में कद बहुत बढ़ गया था और उन्हें साल भर के अंदर मंत्री बना दिया गया था. अखिलेश यादव ने नाराजगी के बाद भी उन्हें अपनी लिस्ट में अमेठी से टिकट दिया था.
किन सपा प्रत्याशियों का कटा टिकट
बछरावां के विधायक राम लाल अकेला
हरचन्दपुर के विधायक सुरेन्द्र विक्रम सिंह
सरेनी के विधायक देवेन्द्र प्रताप सिंह
सलोन की विधायक आशा किशोर.
अब कौन लड़ेगा चुनाव
बछरावां (सु.)-सुशील पासी (कांग्रेस) लेकिन अभी तय नहीं.
तिलोई- विनोद मिश्र (कांग्रेस) 
हरचंदपुर-राकेश सिंह (कांग्रेस) 
सलोन- अभी प्रत्याशी घोषित नहीं 
सरेनी-अशोक सिंह (कांग्रेस) 
रायबरेली- अदिति सिंह (कांग्रेस) 
जगदीशपुर (सु.)-राधे श्याम कनौजिया 
गौरीगंज-राकेश सिंह (सपा) अभी बदल सकता है.
ऊंचाहार-मनोज पांडेय मंत्री (सपा) 
अमेठी-गायत्री प्रजापति (सपा) 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर