अमृतसर: पंजाब में आज नामांकन वापस लेने का आखरी दिन था, लेकिन कांग्रेस की लाख कोशिशों और पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह की विद्रोही कैंडिडेट्स को जीवन भर के लिए कांग्रेस में वापस ना लेने की धमकी के बावजूद भी कांग्रेस का विद्रोह थमा नहीं है.
 
कांग्रेस की आंतरिक रिपोर्ट के मुताबिक 30 ऐसे विधानसभा क्षेत्र है, जहां पर विद्रोही उम्मीदवार अब भी मैदान में है और कांग्रेस के उम्मीदवारों को कड़ी टक्कर देते हुए कांग्रेस का खेल बिगाड़ सकते हैं.
 
 
जानकार मान रहे हैं कि अगर पंजाब कांग्रेस में दलबदल का खेल नहीं रूका तो कांग्रेस को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर