नई दिल्ली. विश्व स्वास्थ संगठन यानि WHO ने अलग अलग देशों के नागरिकों के शारीरिक रूप से सक्रिय रहने को लेकर एक रिपोर्ट जारी की है. इस सूची में भारत भी है. मेडिकल जर्नल द लैंसेट में छपी इस रिपोर्ट में सबसे ऊपर  युगांडा का नाम है. यानि युगांडा के लोग शारीरिक रूप से सबसे अधिक सक्रिय रहते हैं. इस देश में केवल 5.5 फीसदी जनसंख्य खास सक्रिय नहीं रहती. वहीं कुवैत को इस सूची में आखिरी नंबर पर है जहां 67 प्रतिशत जनसंख्या शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं हैं यानि वे व्यायाम नहीं करते हैं.

168 देशों की इस सूची में भारत 117 वें नंबर पर है जिसकी 34 प्रतिशत जनता व्यायाम करने की जगह सोफे पर बैठकर आराम फरमाते हैं. वहीं इस सूची में कुवैत, अमेरिकन समोआ, साउदी अरेबिया और इराक में लगभग आधे व्यस्क शारीरिक गतिविधियों में हिस्सा नहीं लेते. इसमें देखा गया कि 168 में से 55 देशों में एक तिहाई से ज्यादा लोग शारीरिक रूप से सक्रिय हैं.

168 में से 159 देशों में शारीरिक गतिविधियों को मामले में पुरुष महिलाओं से पीछे हैं. ड्ब्लू एचओ की रिपोर्ट के अनुसार 4 में से 1 व्यक्ति व्यायाम नहीं करता. रिपोर्ट के अनुसार अपर्याप्त शारीरिक गतिविधि गैर-संक्रमणीय बीमारियों के लिए एक प्रमुख जोखिम कारक है और इसका मानसिक स्वास्थ्य और जीवन की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. रिपोर्ट जनसंख्या आधारित सर्वेक्षणों से डेटा का उपयोग करके बनाई गई थी, “अपर्याप्त शारीरिक गतिविधि के प्रसार की रिपोर्टिंग”, जिसमें 1.9 मिलियन प्रतिभागी शामिल हैं.

Video: जिमी फैलन के शो में प्रियंका चोपड़ा के मंगेतर निक जोनास ने बताए सगाई के मायने

मंगेतर निक जोनास का हाथ थामे चेहरे पर बड़ी सी स्माईल लिए प्रियंका चोपड़ा ने की रॉल्फ लॉरेन की 50 सालगिरह पर शिरकत

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App