Real Life Aquaman 

नई दिल्ली, Real Life Aquaman  सुनामी या बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाएं कई जीवन झकझोर कर रख देती हैं. बाढ़ जैसी आपदाए केवल शारीरिक क्षति नहीं पहुँचाती बल्कि मानसिक रूप से भी तोड़ देतीं हैं. ऐसा अक्सर देखा गया है की मानव इन आपदाओं के चपेट में आकर भी हार नहीं मानता.

सोशल मीडिया यूज़र्स ने बताया एक्वामैन

हार नहीं मानने कि एक और मिसाल पेश करती ये कहानी एक ऐसे विकलांग व्यक्ति की है जिसने सुनामी से पीड़ित क्षेत्र में जीवन के लिए संघर्ष करते हुए लगातार 27 घंटों तक तैराकी की. टोंगा में पिछले सप्ताह समुन्द्र में ज्वालामुखी विस्फोट हुआ था. इससे आस-पास के कई क्षेत्रों में सुनामी आ गयी थी. सुनामी की विनाशकारी लेहरो ने अटाटा द्वीप के 57 वर्षीय लिसाला फोलाऊ को अब सोशल मीडिया का एक्वामैन बना दिया है. लिसाला इन लहरों से बचने के लिए लगातार 27 घंटों तक तैरते रहे.

विकलांग हैं लिसाला

लिसाला ने इस बारे में बात करते हुए बताया कि, वह विकलांग हैं और मुश्किल से चल पाते हैं. बावजूद इसके वह आपदा के समय बस तैरते रहे. उनके शब्दों में, ‘मैं बस तैरता रहा.’ उन्होंने बताया कि जिस समय सुनामी आयी तब वह अपने भाई के साथ घर की रंगाई कर रहे थे. अपनी जान बचाने के लिए वह एक पेड़ पर चढ़ गए. इसके बाद एक दूसरी लहर ने उनको वहा से भी हटा दिया. उस समय उन्होंने ये निश्चय कर लिया था कि उन्हें तैरना है. अगर वह नहीं तैरे तो उनके परिवार को उनका शव ही मिलेगा. अगले दिन तक वह ये सोच कर लगातार तैरते रहे. जिसके बाद वह नज़दीकी मुख्य टोंगटापु द्वीप पर पहुँच गए.

 

UP Election 2022 : यूपी चुनाव में सपा-रालोद गठबंधन को समर्थन देकर नरेश टिकैत ने लिया यू टर्न

IIT Bombay: IIT बॉम्बे में छात्र ने की आत्महत्या, सातवीं मंज़िल से कूदकर की आत्महत्या

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर