नई दिल्ली. अमेरिका के नॉर्दन वर्जीनिया में एक घर का आंगन में एक दोमुंहा कॉपरहेड स्नेक पाया गया. इसे देखते ही घर के मालिक ने वर्जीनिया हर्पेटोलॉजिकल सोसाइटी को फोन किया ताकि वे जीव की पहचान कर सकें. ये जंगली दोमुंहा सांप बहुत कम पाया है क्योंकि ये अधिक समय तक नहीं जी पाता है.

वर्जीनिया डिपार्टमेंट ऑफ गेम और अंतर्देशीय मत्स्यपालन के जे डी क्लोफर ने फेसबुक पर बताया कि इस तरह के दो मुंहे सांपों के लिए जी पाना चुनौती होता है. उसे वेनेसबोरो में वर्जीनिया के वन्यजीव केंद्र में ले जाया गया ताकि अधिकारी रेडियोग्राफ जरिए सांप की जांच कर सकें और पता लगा सकें कि दोनों सिर एक ही शरीर के साथ कैसे काम करते हैं.

वर्जीनिया के वन्यजीव केंद्र ने कहा कि- ऐसा प्रतीत होता है कि बाएं सिर अधिक प्रभावशाली है, यह आमतौर पर उत्तेजना के लिए अधिक सक्रिय और उत्तरदायी है. सांप में दो ट्रेकेस ह हैं, बाएं ओर एक और विकसित हो गया है. इसमें दो एसोफैगस हैं, दाईं ओर एक और विकसित हो गया है. सांप के शरीर में एक दिल और दो फेफड़ों का एक सेट है. इसके अलावा, इसके शरीर रचना के हिसाब से उसका दाएं सिर से खाना खाना ठीक रहेगा लेकिन यह एक चुनौती हो सकती है क्योंकि बायां सिर अधिक प्रभावशाली है.

गुजरात: गिर के जंगलों में 12 शेरों की मौत पर अधिकारी बोले- आपसी लड़ाई में मर गए

सांप काटने से बच्ची की मौत के बाद बदहवास बाप बोला- मोदी जी आप तो बेटी बचाओ कहते हैं मेरी तो मर गई