नई दिल्ली. फेक न्यूज को साल 2017 का वर्ड ऑफ द् ईयर चुना गया था. इस साल इतनी फर्जी खबरें वायरल हुईं कि कॉलिन डिक्शनरी ने फेक न्यूज को वर्ड ऑफ द् ईयर घोषित कर दिया. अभी हाल ही में एक सूअर के बच्चे का वीडियो और फोटो वायरल हो रहे हैं. इसके बारे में कहा जा रहा है कि पिग ने एक बच्चे को जन्म दिया है जिसका चेहरा इंसानी चेहरे से मिलता है. इसके एक पूंछ भी है और चेहरा सूंढ़ नुमा है.

इसके वीडियो को सुनेंगे तो यह इंसान के बच्चे की तरह ही अपने हाथ पैर हिलाकर रोता नजर आ रहा है. यह अपनी मां के बगल में ही लेटा हुआ है. इसके बारे में यह भी कहा जा रहा है कि जन्म के कुछ देर बाद ही इसकी मौत हो गई. वीडियो और फोटो में देखने में यह बिल्कुल हकीकत नजर आता है. वीडियो देखकर आप भी सही ही समझेंगे. लेकिन इसकी हकीकत यह नहीं बल्कि कुछ और ही है.

इसका सच यह है कि यह जीवित नहीं बल्कि एक आर्टिस्ट की कलाकारी है. इटली के आर्टिस्ट लायरा मैगुआंको ने सिलीकॉन और रबर के इस्तेमाल से इसे बनाया है. लायरा मैगुआंको ने इसका वीडियो अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया है. इस वीडियो के साथ उन्होंने इसे मूर्ति ही बताया है. लेकिन सोशल मीडिया पर यह बहुत तेजी से असली के रूप में प्रसारित किया जा रहा है.

आगे से ध्यान रखें ऐसी खबरों के बारे में अफवाहें तेजी से फैलती हैं. इन अफवाहों पर विराम लगाने के लिए गूगल आपकी मदद कर सकता है. अगर आपको ऐसी कोई खबर मिले तो उसके मूल सोर्स तक पहुंचने का प्रयास करें. सोशल मीडिया अफवाहों का अड्डा बनता जा रहा है. ऐसे में असली जड़ तक पहुंचने के लिए गूगल सर्च का इस्तेमाल किया जा सकता है ताकि आप भी गलत चीजें आगे न ले जाएं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App