अमरोहाः आपने जानवरों की वफादारी और उनके मालिक के प्रति प्रेम के कई किस्से कहानियां सुनी और देखी होंगी लेकिन क्या आपने कभी ऐसी घटना देखी है जहां किसी पशु पक्षी का उसके मालिक ने पूरे विधि-विधान से अंतिम संस्कार करने के बाद उसकी तेरहवीं के भोज में तमाम रिश्तेदारों को निमंत्रण दिया हो. ऐसा मामला सामने आया है उत्तर प्रदेश के अमरोहा से जहां एक आदमी ने अपने पालतू तोते की मौत के बाद उसका हिन्दू रीति रिवाजों के मुताबिक अंतिम संस्कार किया बल्कि उसकी तेरहवीं के कार्ड छपवाकर तमाम रिश्तेदारों को भी भोज पर आमंत्रित कर उनको भोज कराया.

मामला यूपी के अमरोहा का है जहां पेशे से प्राइमरी शिक्षक पंकज कुमार मित्तल ने एक नई मिसाल पेश की है. टीचर पकंज के पास एक पालतू तोता था जिसकी 5 मार्च को मृत्यु हो गई. पंकज के दिल में अपने तोते के लिए इतना प्यार था कि उन्होनें उसका अंतिम संस्कार पूरे हिन्दू रीति रिवाजों के साथ किया. और उसकी तेहरवीं के कार्ड छपवाकर अपने घर में हवन और भोज का कार्यक्रम भी आयोजित किया. इस कार्यक्रम में पंकज ने अपने रिश्तेदारों और आस-पड़ौसियों को बुलाया था. पंकज के ऐसा करने से पूरे अमरोहा में उनके तोता प्यार के चर्चे होने लगे हैं.

पकंज और उस तोते के मिलने की कहानी भी बहुत हैरान कर देने वाली है. 2013 में एक दिन जब पकंज अपनी छत पर शाम के वक्त टहल रहे थे उसी वक्त एक चील के पंजो से छूटकर एक तोता उनकी छत पर आ गिरा था. पंकज ने बताया कि वो तोता, बुरी तरह जख्मी हो चुका था और उसके पैरों में काफी चोट आई थी. जिसके बाद उन्होंने उस तोते को घर में ले जाकर उसकी मरहम पट्टी की और ठीक हो जाने तक पूरा ईलाज किया. जिसके बाद से तोता उनके परिवार के एक सदस्य की तरह रहने लगा था.

 

Let it Wag: घायल जानवरों के देखभाल और सुरक्षा का एक बेहतरीन साथी

चिड़ियाघर में दर्शक ने फेंकी सिगरेट तो ओरंगउटान ने जमकर लगाए कश, वायरल हुआ VIDEO

Tadoba National Park: इंसानों की तरह जानवरों में भी होती है इलाकेबाजी, यकीन न हो तो देखें भालू और बाघ की लड़ाई का ये Video

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App