Monkeys killed 200 dogs

मध्य-प्रदेश. Monkeys killed 200 dogs बीड जिले में दो सौ कुत्तों को हत्या करने वाले दो अपराधी बंदरों को वन विभाग के अधिकारीयों ने पकड़ लिया है. दो बंदरों की हरकत डराने वाली है, ये कुत्तों के पप्पी को अपने साथ एक-एक करके ले जाते थे और उसे पेड़ या छतों पर ले जाकर दर्दनाक मौत देते थे। इसमें कुछ कुत्तों को बिना भोजन या नीचे फेंकने से मौत हो गई। वहां के अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को दोनों बंदरों को पकड़ लिया गया. लावलू गांव के एक व्यक्ति ने बताया कि सिर्फ दो बंदर ने दो सौ कुत्तों को बेरहमी से मौत दी है।

रेंज वन अधिकारी अमोल मुंडे Forest Officer Amol Munde ने बताया कि लावूल गांव से ऐसी घटनाएं हुईं जिसमें दो बंदर जिन-जिन कुत्तों को ले गये, उन सभी की मौत हो गई. गांव के लोगों ने बहुत बार पप्पी को बचाने की कोशिस कि लेकिन बन्दरों के हाथो से नहीं छुरा सके, लेकिन बन्दरों को ऐसा महसूस हुआ कि कुत्तो के साथ इंसान भी जान का दुश्मन बन गए है

गांव वालों ने बताई दो बंदरों की कहानी

ग्रामीणों के मुताबिक कुत्तों ने मिलकर बंदरों के बच्चे पर हमला कर घायल कर दिया था और बाद में उनकी मृत्यु हो गई। तभी बंदरों ने कुत्तों से बदला लेने की ठानी और कुत्तों के पप्पी को खोज-खोज कर उठाकर ले जाने लगे और उच्चे पेड़ पर ले जाकर फेंक देते थे जिससे कुत्तों के पप्पी की मौत होती गई. बंदरों का जब तांडव बढ़ गया तो गांव वालों ने वन विभाग व पुलिस प्रशासन को इसकी सूचना दी, उसके बाद वन विभाग ने दोनों खूंखार बंदरों को पकड़ लिया.

गांव के लोग जख्मी

मजल गांव के सीताराम नायबल नाम के एक ग्रामीण ने इन बन्दरों के डर से अपनी घर की छत से छलांग लगा दी और उनके दोनों पैर बुरी तरह जख्मी हो गये। सीताराम नायबल ने इलाज में डेढ़ लाख रुपये खर्च कर दिये हैं लेकिन अभी तक ठीक से नहीं चल पा रहे हैं। बंदरों ने सड़क पर चलने वाले लोगों पर भी हमला करना शुरू कर दिया है. बन्दरों के आतंक से लोग परेशान हो गये थे।

यह भी पढ़े;

NCP Leader: एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल के बेटे की शादी में जमकर नाचे सलमान खान, हुक्का का कस लगाते दिखे धोनी

Foreign Teams afraid From green pitches अब विदेशी टीमें हमारे खिलाफ ग्रीन टॉप पिचें बनाने से डरती हैं : अतुल वासन

 

 

SHARE