नई दिल्लीः खाना पकाने को लेकर एक बहस काफी लंबे समय से चली आ रही है जिसमे कोई कहता है ये एक कला है कोई कहता है विज्ञान है तो कोई कहता है कि खाना पकाने की कोई सीमा ही नहीं है और न ही इसका कोई अंत हैं. जिसको आदमी अपने हुनर के जरिए ही पूरा करता है. लेकिन खाना बनाने को लेकर एक नए तरह का प्रयोग सामने आया है जिसमें खाने बनाने को एक अलग अंदाज में पेश किया गया है.

ये प्रयोग मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के कुछ रोबोटिक्स इंजीनियरों के एक समूह द्वारा शुरू किया गया है, जिसमें बोस्टन शहर के जाने माने रेस्तरां मिशेलिन स्टार्ड शेफ डैनियल बोउलुद के साथ साझेदारी कर अंजाम दिया गया है. इस प्रयोग में रेस्तरां के संस्थापकों ने मानव शेफ के बजाए रोबोटिक्स को खाना बनाने के लिए प्रयोग में लगाया है.

रेस्तरां के संस्थापकों ने मानव शेफ को सात स्वचालित खाना पकाने के बर्तनों के साथ बदल दिया है जो एक साथ तीन मिनट या उससे कम समय में भोजन को तैयार कर देते हैं. भोजन की तैयारी का एक संक्षिप्त विवरण 26 वर्षीय सह-संस्थापक, माइकल फरीद की की देखरेख में होता है. खाना बनाने में पारंगत ये रोबोटिक्स ध्वनि निर्देशों का पालन कर तुरंत खाना बना देते हैं.

संचालन का कार्य देख रहे फरीद ने बताया कि जब आप हमें एक बार अपना ऑर्डर देते हैं तो हम वो ऑर्डर को बनाने में लगने वाला सामान इकट्ठा कर सही आकार में कांटा छांटा जाता है जिसके बाद सारी सामग्री को रोबोटिक वोक में पहुंचाया जाता है जहां वे 450 ड्रिग्री फारेनहाइट पर पकाए जाते हैं. जिसके बाद खाने की सामग्री को सीयर किया जाता है. एक बार प्रक्रिया पूरी होने के बाद ये रोबोटिक्स नियत स्थान पर धरे हुए बर्तनों में खाना डाल देते हैं जिसके बाद उसे सजा कर परोस दिया जाता है.

शहर का ये स्पाइस रेस्तरां अपने आप में पहला ऐसा रेस्तरां है जिसमें रोबोटिक्स से खाना पकाया जाता है. संस्थापक फरीद ने कहा कि हम सिर्फ एक ब्लैक बॉक्स नहीं बनना चाहते थे जो केवल भोजन को पकाने का काम करता है. हम चाहते थे कि हमारा अनुभव कुछ रोमांचक हो जिसके परिणाम स्वरूप ये रोबोटिक्स आज आपके सामने हैं.

फरीद ने कहा कि रोबोट दक्षता और इसको चलाने में कम खर्च की लागत को बचाते हैं. लेकिन उन्होंने ये नहीं बताया कि ये कितना पैसा बचाते हैं. उन्होंने कहा कि डायनिंग अनुभव को बढ़ाने वाले रोबोटों को देख रहे हैं इसे बदलने के लिए नहीं. उन्होंने इस आरोप से इनकार किया कि इन रोबोटिक्स का चलन लोगों की नौकरी पर संकट ला सकता है.

 

साउथ कोरिया यूनिवर्सिटी बना रही किलर रोबोट आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक्सपर्ट्स ने किया बॉयकॉट

सिर्फ इंसान ही नहीं रोबोट भी हैं बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान के फैन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App