नई दिल्ली. अक्सर प्राइवेट नौकरी से कर्मचारियों को फायर करने यानी नौकरी से निकाल देने की खबरें आती रहती हैं. लेकिन किसी महिला को नौकरी से सिर्फ इसीलिए निकाल दिया जाए वह ऑफिस ब्रा नहीं पहनकर आई तो यह सुनने में बचकाना लगता है. लेकिन यह घटना सही है. कनाडा में एक महिला कर्मचारी को इसी वजह से निकाल दिया गया. जिसके बाद महिला ने एक्शन लेते हुए मानव अधिकार के उल्लंघन के आरोप में शिकायत दर्ज करवाई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कनाडा के शहर अल्बर्टा में क्रिस्टीना शैनल नाम की महिला को ब्रा नहीं पहनने की वजह से निकाल दिया गया. दरअसल ऑफिस में नया ड्रेस कोड लागू किया गया था जिसके तहत सभी को वर्किंग आवर्स में ब्रा या अंडरशर्ट पहनना अनिवार्य किया गया था लेकिन क्रिस्टीना ने इसका विरोध किया तो उन्हें नौकरी से हाथ धोना पड़ा. क्रिस्टीना ने इस मानव अधिकारों का उल्लंघन बताया.

क्रिस्टीना ने ऑफिस के बॉस पर लिंगभेद का आरोप भी लगाया. क्रिस्टीना ने कहा कि ऐसा ड्रेस कोड लागू करना एक तरह का लिंगभेद है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार महिला रेस्टोरेंट में सर्वर के तौर पर नौकरी करती हैं. जिन्होंने दो साल पहले ब्रा पहनना छोड़ दिया था जिसका उन्होंने कारण बताया कि वह असहज महसूस करती हूं. दूसरी तरफ ऑफिस बॉस का कहना है कि ये फैसला महिला सुरक्षा के तहत लिया गया था.

पूनम पांडे ने डाली टॉपलेस ब्रॉ में फोटो तो फैन्स के पसीने छूटे

वो दस बॉलीवुड फिल्में जिनके निशाने पर रही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार