नई दिल्ली. अक्सर बच्चे होमवर्क ना करने पर तरह-तरह के बहाने बनाते है लेकिन स्वीडन की रहने वाली मेडी ने अपने टीचर को होमवर्क ना करने का ऐसा बहाना बताया जिसे सुनकर टीचर ने सजा देने के बजाए खुश हो गईं.
 
दरअसल मेडी अपना होमवर्क पूरा नहीं कर पाई थीं. जब वह स्कूल गई तो टीचर ने उससे होमवर्क मांगा तो उसने कोई बहाना बनाने की बजाए स्कूल टीचर को अपने मम्मी-पापा द्वारा लिखा एक नोट दे दिया. जिसे पढ़कर टीचर बहुत खुश हुए. इस नोट में लिखा था कि मेडी होमवर्क नहीं कर पाई है. प्लीज उसे एक दिन की मोहलत दे दीजिए. हमारे परिवार में एक बहुत बड़ी खुशखबरी आई है. हम सभी उसी में बिजी हो गए थे इसलिए मेडी अपना काम पूरा नहीं कर पाई. उसके दादाजी को केमिस्ट्री का नोबेल पुरस्कार मिला है और हम सभी लोग इस मौके पर सेलिब्रेशन में जुट गए थे.  
 
आपको बता दें कि मेडी के दादा जी थॉमस लिंडहल को अमेरिका के पॉल मॉड्रिच और तुर्की के अजीज सनकार को साथ केमिस्ट्री में वर्ष 2015 का नोबेल पुरस्कार मिला था. 
 
टीचर ने इस नोट को सोशल साइट पर शेयर किया. इसका नाम ‘बेस्ट एक्सक्यूज एवर’ लिखा यानी अब तक का सबसे अच्छा तरीका इस नोट को 15 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App