बेंगलुरु: कर्नाटक का शिकारीपुरा सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है. बीजेपी की तरफ से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा यहां 35 सालों से जीत रहे हैं इसलिए ये सीट बीजेपी और येदियुरप्पा की प्रतिष्ठा से जुड़ी है. येदियुरप्पा ने इस सीट से आठ बार चुनाव लड़ा है और वो 7 बार यहां से जीतकर आए हैं. उन्होंने पहली बार 1983 में इस सीट से चुनाव लड़कर जीत हासिल की थी और फिर 1985 के उपचुनाव से लेकर 1989, 1994, 2004, 2008 और 2013 के विधानसभा चुनाव में येदियुरप्पा ने इस सीट से जीत हासिल की. हालांकि साल 2013 के विधानसभा चुनाव में येदियुरप्पा कर्नाटक जनपक्ष से उम्मीदवार थे और ये दल उन्होंने बीजेपी से अलग होकर बनाया था.

येदियुरप्पा को उन्हीं की सीट से हराने के लिए विपक्ष ने दोनों तरफ से सेंध लगाने की कोशिश की है. कांग्रेस ने येदियुरप्पा के मुकाबले में स्थानीय लिंगायत नेता नोनी मलथेश और जेडीएस ने एच टी बालेगर को मैदान में उतारा है. माना जा रहा है कि कांग्रेस और जेडीएस दोनों ने ही इस सीट से कमजोर उम्मीदवार उतारा है. शिकारीपुरा निर्वाचन क्षेत्र में ज्यादातर लिंगायत समुदाय के लोग हैं. इनके अलावा यहां कुरुबा, गुडिगर्स, लिंगायत, मुस्लिम, ईसाई और दलित समुदाय के भी लोग हैं जो चुनाव के नतीजों के पलटने का माद्दा रखते हैं.

Shikaripura Election Results 2018 in Hindi Live Updates:

कर्नाटक का शिकारीपुरा सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है. बीजेपी की तरफ से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा सुबह से ही इस सीट पर आगे चल रहे हैं. इस सीट पर कांग्रेस के गोनी मालातेशहा से बीएस येदियुरप्पा की टक्कर है. हालांकि शुरुआत से ही येदियुरप्पा आगे नजर आ रहे हैं. उन्होंने सभी कैंडिडेट को पीछे छोड़ा हुआ है.

Karnataka Election Counting Results 2018: कर्नाटक में देवगौड़ा रहेंगे खाली हाथ, बीजेपी को पूर्ण बहुमत के आसार

Bengaluru South Election Results 2018 in Hindi Live Updates: जनता दल के मलेश बाबू 3705 वोटों से आगे

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर