लखनऊ. UPSSSC Tubewell Operator Exam 2018: उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने शनिवार को ट्यूबवेल ऑपरेटर परीक्षा का हिंदी पेपर सोशल मीडिया पर लीक के बाद भर्ती अभियान स्थगित कर दिया है. यूपीएसएसएससी के चेयरमैन सीबी पालीवाल ने अधिकारियों को एजेंसी के खिलाफ कड़े कार्रवाई करने का निर्देश दिया है जो प्रश्न पत्र छापने के लिए जिम्मेदार था. इस मामले में अब तक 11 लोगों की गिरफ्तारी हुई है.

रिपोर्टों के मुताबिक यूपी स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने हिंदी प्रश्नपत्र के साथ पकड़े जाने के बाद मेरठ में कई गिरफ्तारी की हैं. आयोग ने कहा कि सोशल मीडिया पर कल रात उसी पेपर को कथित रूप से लीक किया गया था. उन्होंने कहा कि आयोग जल्द ही नई तिथियों की घोषणा करेगा. 3210 खाली पदों की परीक्षा राज्य भर के विभिन्न केंद्रों में रविवार को आयोजित की जाने वाली थी. करीब 2.5 लाख उम्मीदवारों को परीक्षा में शामिल होना था.

बता दें कि उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) ट्यूबवेल ऑपरेटर परीक्षा को रविवार, 2 सितंबर को आयोजित किया जाना था. लेकिन सोशल मीडिया में शनिवार को हिंदी प्रश्न पत्र लीक होने के बाद स्थगित कर दिया गया. यूपी पुलिस ने शुरुआत में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी लेकिन बाद में 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था.

अतिरिक्त महानिदेशक मेरठ जोन, प्रशांत कुमार ने मीडिया से कहा यूपी ट्यूबवेल ऑपरेटर पेपर लीक मामले के संबंध में कल रात 11 लोगों को उनके मास्टरमाइंड सचिन (एक शिक्षक) समेत गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने कथित अपराधियों के मोबाइल फोन और 15 लाख रुपये की नकद जब्त की है.

वहीं यूपीएसएसएससी अध्यक्ष सीबी पालीवाल ने इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि एजेंसी को प्रश्न पत्र मुद्रित करने की ज़िम्मेदारी दी गई थी. अध्यक्ष ने कहा कि संभावना है कि पेपर लीक एजेंसी से ही हुआ हो. आयोग कोई कार्रवाई करने से पहले विशेष टास्क फोर्स से अंतिम रिपोर्ट की प्रतीक्षा कर रहा है. राज्य के लिए 3210 ट्यूबवेल ऑपरेटरों की नियुक्ति के लिए भर्ती प्रक्रिया की जा रही है.

UPSC Steno/SO Recruitment 2018: यूपीएससी स्टेनो एसओ भर्ती 2018 के लिए जल्द जारी होगी अधिसूचना @upsc.gov.in

Bihar Board Compartment Results 2018: बिहार बोर्ड की 10वीं कक्षा का कंपार्टमेंट रिजल्ट घोषित, ऐसे करें चेक

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App